'राजस्थान सरकार के लिए 'बोफोर्स कांड' बनेगी लाल डायरी ..', गुढ़ा ने उजागर किए भ्रष्टाचार, तो भाजपा ने ली चुटकी

'राजस्थान सरकार के लिए 'बोफोर्स कांड' बनेगी लाल डायरी ..', गुढ़ा ने उजागर किए भ्रष्टाचार, तो भाजपा ने ली चुटकी
Share:

जयपुर: राजस्थान के बर्खास्त मंत्री और कांग्रेस नेता राम चंद्र गुढ़ा द्वारा 'लाल डायरी' के तीन पन्ने सार्वजनिक करने और राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन चुनाव में भ्रष्टाचार को उजागर करने के एक दिन बाद, भाजपा ने आज गुरुवार को इसे राज्य सरकार के लिए "बोफोर्स क्षण" करार दिया। बता दें कि, महिलाओं के खिलाफ अपराध की बढ़ती घटनाओं को लेकर अपनी ही सरकार पर निशाना साधने के बाद कैबिनेट से बर्खास्त किए गए राजस्थान के पूर्व मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने बुधवार को एक 'लाल डायरी' के तीन पन्ने जारी किए, जिसके जरिए उन्होंने राजस्थान क्रिकेट के चुनावों में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। बता दें कि, इस एसोसिएशन का नेतृत्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत कर रहे हैं। 

इसको लेकर भाजपा नेता सुधांशु त्रिवेदी ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, "'लाल डायरी' न केवल राजस्थान के मुख्यमंत्री बल्कि उनके बेटे की करतूतों का भी खुलासा कर रही है, यह राजस्थान सरकार के लिए बोफोर्स क्षण है क्योंकि आरोप खुद सरकार के हैं।"  उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार के कुकर्मों में एक काला अध्याय जुड़ गया है और वह अध्याय लाल डायरी से जुड़ा है। यह कहते हुए कि जब भी भाजपा, कांग्रेस और अन्य विपक्ष के खिलाफ आरोप लगाती है तो वे "निराधार" नहीं होते हैं, त्रिवेदी ने कहा कि, "2जी (घोटाले) में, नियंत्रक महालेखा परीक्षक (CAG) की एक रिपोर्ट और अदालत की एक टिप्पणी थी। बोफोर्स के दौरान, (पूर्व प्रधान मंत्री) राजीव गांधी के मंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने भी यही आरोप लगाए थे। आज राजेंद्र गुढ़ा ने अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली अपनी ही सरकार पर आरोप लगाए। इसलिए मैं कह सकता हूं कि यह राजस्थान सरकार के लिए बोफोर्स क्षण होने जा रहा है।''

बता दें कि बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, गुढ़ा ने 'रेड डायरी' उठाई और इसके कुछ पन्ने भी पढ़े और कहा कि वह आने वाले दिनों में और अधिक रहस्यों का खुलासा करना जारी रखेंगे।  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उनके विशेष कर्तव्य अधिकारी (OSD) सौभाग सिंह और पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष धर्मेंद्र राठौड़ के बीच एक कथित बातचीत का हवाला देते हुए, गुढ़ा ने कहा कि डायरी में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (RCA) के खातों को निपटाने पर बातचीत का उल्लेख है।

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें गिरफ्तार होने का डर है, पूर्व मंत्री ने कहा, "अगर मैं जेल भी गया, तो डायरी से नए खुलासे होंगे, क्योंकि यह मेरे करीबी सहयोगियों के पास रहेगी। इस डायरी में (सीएम गहलोत के अधीन) भ्रष्ट सौदों का विवरण है।" इसमें अशोक गहलोत सरकार द्वारा किए गए भ्रष्टाचार के सभी सबूत हैं। वे झूठे मामले दर्ज करने और मुझे ब्लैकमेल करने की योजना बना रहे हैं। वे मुझसे माफी मांगने के लिए कह रहे हैं।'' इसके बाद भाजपा नेता ज्ञान देव आहूजा गुढ़ा के समर्थन में उतरे, उन्होंने कहा, ''राजेंद्र गुढ़ा ने आज लाल डायरी में 5,000 करोड़ रुपए के लेनदेन का खुलासा किया। मैं इसके लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं और अगर उन्हें मेरे समर्थन की जरूरत होगी, तो मैं वहां मौजूद रहूंगा।"

इससे पहले, मीडिया से बात करते हुए, गुढ़ा ने कहा कि सीएम गहलोत 'रेड डायरी' की सामग्री को लेकर बहुत तनाव में थे। उन्होंने कहा, ''जिस तरह से उन्होंने (कांग्रेस सदस्यों ने) विधानसभा में मेरे साथ व्यवहार किया, उससे उनकी घबराहट का पता चलता है। मैंने अपने पूरे जीवन में कभी किसी को इतना तनावग्रस्त नहीं देखा। किताब में जो कुछ भी लिखा गया है वह सार्वजनिक डोमेन में होगा। जोधपुर में चार महिलाओं के मृत पाए जाने की घटना को उजागर करने के बाद सीएम गहलोत ने गुढ़ा को मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था, उन्होंने कहा था कि कांग्रेस सरकार को मणिपुर की स्थिति पर केंद्र की आलोचना करने से पहले अपने भीतर झांकना चाहिए। बाद में, 'लाल डायरी' लेकर गहलोत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने के बाद उन्हें राजस्थान विधानसभा से बाहर निकाल दिया गया था।

'विपक्ष भड़काएगा, लेकिन आपको..', पीएम मोदी ने NDA सांसदों को दिए टिप्स

370 फिर लागू हो..! सुप्रीम कोर्ट में जोर लगा रहे कपिल सिब्बल, राम मंदिर और CAA-NRC का कर चुके हैं विरोध

'मेक इन इंडिया' के लिए मोदी सरकार ने उठाया बड़ा कदम, इन चीजों के आयात पर लगाई रोक

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -