यूपी में स्टूडेंट का रेप और मर्डर की छानबीन को लेकर घटनास्थल पर पहुंची एक बार फिर पुलिस

Feb 23 2016 08:23 AM
यूपी में स्टूडेंट का रेप और मर्डर की छानबीन को लेकर घटनास्थल पर पहुंची एक बार फिर पुलिस

लखनऊः यूपी कि राजधानी में हुए रेप और मर्डर का केस दिन पर दिन एक नया मोड़ लेता नजर आ रहा है। इस केस कि छानबीन को लेकर पुलिस ने आरोपियों को एक बार फिर घटनास्थल का मुआएना के लिए ले गए। और चारों आरोपियों से पूछताछ करके चिन्हित स्थानों पर चार खूंटे लगाए।

आपकों बता दें कि यूपी कि राजधानी में 12 वीं कि छात्रा के साथ चार आरोपियों ने मिलकर छात्रा का रेप करके उसका मर्डर कर दिया था। जिसकी छानबीन अभी भी जारी है। सोमवार के दिन पुलिस ने एक बार फिर चारों आरोपियों को केस कि छानबीन के लिए घटनास्थल पर ले गए। खूंटे लगाकर जगह को चिन्हित करे। और दो खूंटे वहां पर लगाए जहां पर दोनों रिक्शा चालक 10 फरवरी को शौच कर रहे थे। मंगलवार को सुबह 10 बजे के लगभग पुलिस और फोरेंसिक के एक्सपर्ट इस पूरी घटना को रीक्रिएट करेंगे।

कुछ यूं कहा आरोपियों ने
पुलिस ने अरोपियों से हर स्थिति कि जानकारी ली और मंदिर में आने वाले लोगों, पुजारी और साइकिल के बारे में मौके पर कई सवाल पूछे। पुलिस ने आरोपियों से समयानुसार जानकारी बताने को कहा जिस पर आरोपियों ने हूबहू पूरा घटनाक्रम बयां किया। इसमें मुख्य रूप से डेड बाॅडी की पोजीशन, आरोपी किस दिशा से आए और उन्होने किस स्थान पर बैठकर नशा किया और किस तरह छात्रा का ब्लेजर उतारा जैसी जानकारी पुलिस ने ली। इन सब जानकारी लेते हुए आरोपियों का यही कहना था कि हमने छात्रा कि बाॅडी के साथ छेड़छाड़ तो कि लेकिन उसका मर्डन नहीं किया।

टेस्ट के लिए कोर्ट में दिया आवेदन
पूलिस का मानना है कि अगर वह आरोपियों का नार्को टेस्ट करेंगें तो पूरी कड़ियों को जोड़ने में आसानी होगी। इसलिए पुलिस ने कोर्ट में आरोपियों के टेस्ट के लिए आवेदन दिया है। अब पुलिस के पास सांइटिफिक एविडेंस और रिलेटेड रिपोर्ट के आधार पर ही पड़ताल करने का रास्ता बचा है। जानकारी देते हुए एसपी ट्रांस गोमती जय प्रकाश यादव ने बताया कि हमें पूरे केस के अहम सुराग तो मिल गये हैं। जिसकी पुष्टि कि जा रही है।

कुछ ये सवाल पुलिस के सामने कर रहें मुसीबत खड़ी
1- पोस्टमार्टम रिपार्ट में आया है कि छात्रा कि जान उसके प्राइवेट पार्ट से ज्यादा ब्लीडिंग होने कि वजह से हुई लेकिन घटनास्थल पर पुलिस को खून कि एक भी बूंद नहीं मिली।
2- कैमरे में पाया गया कि छात्रा बैग और साइकिल के साथ निकली है लेकिन पुलिस को अभी तक यह दोनों चीजें नहीं मिल पाई हैं।
3- पुलिस का कहना है कि जिस दिन यह घटना घटी उस दिन छात्रा का प्रेक्टिकल एग्जाम था तो उसने अपना एग्जाम क्यों छोड़ी। और पार्क रोड और इंदिरा नगर दोनों अलग-अलग रूट पर है। और छात्रा उस दिन इंदिरा नगर के लिए निकली थी तो वह पार्क रोड के जंगल में कैसे पहुंच गई।