आखिर क्यों रमज़ान के महीने को बांटा जाता है तीन भागो में

इस वक्त रमज़ान का पाक महीना चल रहा है और इस महीने को मुसलमानों के लिए सबसे ख़ास माना जाता है. इस महीने में मुसलमान रोज़ा रखते हैं और अपनी मुराद पूरी होने का इंतज़ार करते हैं. आप सभी को बता दें कि रमज़ान से जुडी कई ऐसी बातें हैं जिन्हे बहुत ही कम लोग जानते हैं तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं रमज़ान से जुडी वो पांच बातें जिन्हे बहुत कम लोग ही जानते हैं.

1. कहा जाता है कि रमज़ान के महीने में हर मुसलमान को रोज़े रखना चाहिए, लेकिन उन लोगों को नहीं जो छोटे बच्चे हो या फिर बुजुर्ग हो या फिर ऐसी महिला हो जो प्रेग्नेंट हो.

2. रमज़ान के महीने में शाम की इफ्तार का खास भोजन खजूर रखा जाता है क्योंकि सभी का मानना है कि पहली बार पैगम्बर मोहम्मद ने अपना रोज़ा खजूर खाकर ही खोले थे.

3. रमज़ान का महीना तीस दिनों का होता है और हर दिन मुसलमानो को रोज़ा रखना होता है इस महीने में कुरान पढ़ने से जो सबब मिलता है वह कभी ऐसे ही नहीं मिलता.

 

4. रमज़ान के महीने को तीन भागो में बांटा जाता है जिसमे 10 दिन को 'रहमतों का दौर' 10 दिन को 'माफ़ी का दौर' 10 दिन को 'जहन्नुम से बचाने का दौर' कहा जाता है.

5. रमज़ान में उन मुसलमानो को जो रोज़ा रखते है सेक्स, अपशब्द, गुस्सा करने से दूर रहने को कहा जाता है, इस वक्त केवल अल्लाह पर ध्यान दिया जाता है.

रमजान में खजूर खाने के पीछे भी एक विज्ञान है, जानिए कैसे

'कलंक' के सेट से वरुण ने इस अंदाज़ में दी रमज़ान की बधाई

जानिए कहाँ कितने घंटों का होता है रोज़ा ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -