'कुछ भी हो जाए, लेकिन टीम इंडिया से बाहर नहीं होंगे पंत...', जानिए किसने किया ये ऐलान ?

नई दिल्ली: विकेटकीपर बैट्समैन ऋषभ पंत अपने खराब फॉर्म की वजह से आलोचकों के निशाने पर हैं. इस बीच भारत के हेड कोच राहुल द्रविड़ का बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने स्पष्ट किया कि ऋषभ पंत इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप की तैयारियों का ‘बड़ा’ और ‘अभिन्न’ हिस्सा हैं. दरअसल, दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध पांच मुकाबलों की टी20 श्रृंखला में टीम की कप्तानी करने वाले पंत 5 पारियों में महज 58 रन ही बना सके हैं, जिससे सबसे छोटे प्रारूप में उनकी जगह को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं.

हालांकि, द्रविड़ ने स्पष्ट किया है कि पंत टीम में बने रहेंगे. द्रविड़ ने पांचवें मुकाबले के बारिश की भेंट चढ़ जाने की वजह से सीरीज 2-2 से बराबर छ्रटने के बाद कहा कि, ‘निजी तौर पर वह कुछ और रन बनाना पसंद करता, मगर यह उससे संबंधित नहीं है. निश्चित रूप से वह अगले कुछ महीनों में हमारी योजनाओं का काफी बड़ा हिस्सा है.’ दरअसल, द्रविड़ IPL 2022 के दौरान पंत की 158 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से प्रभावित थे, जिसमें इस विकेटकीपर बैट्समैन ने दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से 340 रन स्कोर किए थे, जो कि अपेक्षानुसार नहीं थे.

द्रविड़ की राय स्पष्ट थी कि वह किसी एक श्रृंखला के आधार पर किसी खिलाड़ी का आकलन नहीं करेंगे, फिर चाहे वह बल्लेबाजी हो या कप्तानी. द्रविड़ ने कहा है कि, ‘मैं आलोचनात्मक रवैया नहीं अपनाना चाहता. बीच के ओवरों में थोड़ा आक्रामक क्रिकेट खेलने की आवश्यकता होती है. कभी-कभी दो या तीन मैचों के आधार पर आकलन करना कठिन होता है.’ द्रविड़ ने आगे कहा कि, ‘मुझे लगता है कि स्ट्राइक रेट के मामले में IPL में उनका प्रदर्शन बहुत शानदार था, भले ही औसत के मामले में यह उतना बेहतर नहीं लग रहा था. IPL में वह (औसत के मामले में) बेहतर करना चाहते थे और शायद तीन वर्ष पूर्व उन्होंने खूब रन बनाकर अच्छा औसत हासिल किया था.’
 
द्रविड़ ने आगे कहा कि, ‘हम उम्मीद कर रहे हैं कि वह इंटरनेशनल लेवल पर यह आंकड़ा हासिल करने में सफल रहेंगे.’ पंत की कप्तानी के बारे में द्रविड़ को लगता है कि श्रृंखला के पहले दो मैच गंवाने के बाद टीम को वापसी दिलाकर उन्होंने अहम भूमिका निभाई. द्रविड़ ने कहा कि, ‘टीम को 0-2 से वापसी दिलाना, सीरीज 2-2 से बराबर करना और जीत के अवसर उत्पन्न करना अच्छा प्रदर्शन था. कप्तानी सिर्फ जीत और हार से नहीं जुड़ी है. पंत एक युवा कप्तान हैं और सीख रहे हैं. अभी उनका आकलन करना जल्दबाजी होगी और एक श्रृंखला के बाद ऐसा नहीं किया जा सकता है.’

बजरंग बलि के परम भक्त हैं केशव महाराज, पिता आत्मानंद भी रह चुके हैं क्रिकेटर

वर्ल्ड कप जिताने वाला दिग्गज खिलाड़ी सड़क पर लोगों को पिला रहा है चाय, देखकर उड़ जाएंगे आपके होश

Halle Open में हरकाज ने दानिल मेदवेदेव को दी करारी मात

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -