चौथी क्लास की बच्ची से बलात्कार करने वाला प्रिंसिपल 2 सहयोगियों सहित गिरफ्तार

रायपुर : छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में स्थित एक मिशनरी स्कूल के हॉस्टल में रहने वाली चौथी क्लास की स्टूडेंट के साथ बलात्कार के आरोपी प्रिंसिपल समेत 2 महिला सहयोगियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि अभी भी इलाके में तनाव का माहोल बना है। घटना के खिलाफ सड़कों पर उतरे आस-पास के हजारों स्कूली छात्र-छात्राएं और आम लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। हालात को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं। घटना पोड़ी थाना क्षेत्र के सरभोका में स्थित ज्योति मिशन एवं वियानी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की है।

प्रिंसिपल जोसेफ पर हॉस्टल में रहने वाली एक 8 वर्षीया बच्ची के साथ बलात्कार का आरोप है, जबकि सिस्टर क्रिस्टा मारिया और सिस्टर फिलोमिना पर इस वारदात में सहयोग देने का आरोप लगा है। पुलिस ने गिरफ्तार जोसेफ पर आईपीसी की धारा 376, पॉस्को एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज़ किया है। हॉस्टल में रहने वाली चौथी की छात्रा ने बुधवार को अपने घरवालो को फ़ोन किया और बिलखते हुए तबीयत खराब होने की बात कही और हॉस्टल से बाहर ले चलने की इच्छा जताई। जानकारी मिली है की पीड़ित बच्ची ने चोरी-छिपे वहां के गार्ड से फोन मांगकर परिजनों से बात की थी।

पीड़ित के परिजनों के अनुसार वे हॉस्टल पहुंचे तो वहां की वार्डन क्रिस्टा मारिया ने कहा, बच्ची की तबीयत खराब है। जाकर चिरमिरी में डॉक्टर को दिखा दो और वापस हॉस्टल पहुंचा देना। सिस्टर के कहने पर बच्ची के पैरेंट्स उसे अस्पताल ले गए जहां उसने गुप्तांग में दर्द और ब्लीडिंग की शिकायत की। इसपर डॉक्टर ने उसे महिला डॉक्टर के पास जाने और पुलिस को खबर करने की सलाह दी। अगले दिन जब वे शिकायत लेकर पोड़ी थाने पहुंचे तो पुलिस बच्ची को लेकर मेडिकल जांच के लिए जिला अस्पताल ले गई। पुलिस के अनुसार वहां के डॉक्टर स्थिति स्पष्ट करने में असफल रहे। रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है। पुलिस का कहना है कि बच्ची को मेडिकल जांच के लिए बिलासपुर भेजा जाएगा।

इधर घटना और उसके बाद पुलिस की अनदेखी की सुचना पूरे इलाके में फैल गई और गुरुवार शाम सैकड़ों की तादाद में लोग स्कूल के मुख्य गेट के बार जमा होकर प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान पत्थरबाजी और हल्की तोड़फोड़ भी हुई। हालत अनियंत्रित होते देख कोरिया एसपी बीएस ध्रुव, चिरमिरी के सीएसपी आरएन यादव बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। कुछ समय बाद देखते-देखते पूरा इलाका छावनी में तब्दील हो गया।

शुक्रवार सुबह से ही आस-पास के सभी सरकारी व निजी स्कूलों के छात्र-छात्राएं व हजारों की संख्या में आम लोग सड़कों पर उतर आए। चिरमिरी, नागपुर और आस-पास के इलाकों में सड़क जाम कर दिया। पोड़ी थाने के सामने टायर जलाकर प्रदर्शन किया गया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की गई। जनता के द्वारा दबाव डालने पर दोपहर को पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल जोसेफ और उसकी सहयोगी सिस्टर क्रिस्टा मारिया व सिस्टर फिलोमेना को गिरफ्तार किया।

Most Popular

- Sponsored Advert -