बिजली मंत्रालय ने बिजली वितरण फर्मों के बकाये का भुगतान करने के लिए नई योजना की घोषणा की

केंद्रीय बिजली मंत्रालय ने एक योजना को अधिसूचित किया है जो बिजली वितरण फर्मों (डिस्कॉम) को दो साल में दूसरी बार बिजली उत्पादन कंपनियों (जेनको) को अपने बकाये को स्थगित करने में सक्षम बनाती है। मंत्रालय ने डिस्कॉम के बकाये के निपटान के लिए एक रणनीति की सिफारिश की है, जो 1 ट्रिलियन रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया है।

मंत्रालय की घोषणा के अनुसार, प्रस्तावित योजना डिस्कॉम को 48 किस्तों में अपने बकाये का भुगतान करने की अनुमति देगी। इसने सभी डिस्कॉम को एक बार की राहत देने का भी प्रस्ताव किया है, जिसमें योजना की अधिसूचना के दिन मूलधन और देर से भुगतान अधिभार (एलपीएससी) सहित बकाया राशि को फ्रीज कर दिया जाएगा, और एलपीएससी को फिर से नहीं लगाया जाएगा।

जब डिस्कॉम 90-दिवसीय अनुग्रह अवधि के भीतर अपने मासिक बकाये का भुगतान करने में विफल रहते हैं, तो एलपीएससी लगाया जाता है। सभी डिस्कॉम का संयुक्त एलपीएससी 6,839 करोड़ रुपये है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "एलपीएससी लगाए बिना अवैतनिक बकाये के आस्थगित परिसमापन से डिस्कॉम को अपने वित्त को मजबूत करने का समय मिलेगा." मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "साथ ही, जेनकोस को सुनिश्चित मासिक भुगतान से लाभ होगा जो अन्यथा उनके लिए आगामी नहीं हो सकता है।

डिस्कॉम द्वारा किस्त का भुगतान करने में विफल रहने पर एलपीएससी से पूरे बकाया पर शुल्क लिया जाएगा।

Oil India में नौकरी पाने का सुनहरा मौका, बिना परीक्षा होगा चयन

यो यो हनी सिंह पर चढ़ा IPL का खुमार, आज के मैच में लाइव परफॉर्म करते आएँगे नजर

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए टीम इंडिया की चयन समिति पर उठे सवाल

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -