'कभी PM बनने की कल्पना नहीं की थी..', सत्ता के 20 वर्ष होने पर बोले पीएम मोदी

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने AIIMS ऋषिकेश से 35 राज्यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों में पीएम केयर्स फंड के तहत स्थापित 35 प्रेशर स्विंग ऐड्सॉर्प्शन (PSA) ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज से नवरात्र का पावन पर्व भी प्रारंभ हो रहा है. आज प्रथम दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है. मां शैलपुत्री, हिमालय पुत्री हैं और आज के दिन मेरा यहां होना, यहां आकर इस मिट्टी को प्रणाम करना, हिमालय की इस धरा को नमन करना, इससे बड़ा जीवन में कौन सा धन्य भाव हो सकता है

पीएम मोदी ने आगे कहा कि इस बार टोक्यो ऑलंपिक में देवभूमि उत्तराखंड ने अपना झंडा गाड़ा है. इसके लिए आप सभी अभिनंदन के अधिकारी है. उत्तराखंड की दिव्य धरा ने मुझ जैसे कई लोगों की जीवन धारा को बदलने में अहम भूमिका निभाई है. इस भूमि से मेरा नाता मर्म का भी है और कर्म का भी. सत्व का भी है और तत्व का भी है. आज के ही दिन 20 वर्ष पूर्व मुझे जनता की सेवा का एक नया दायित्व मिला था. लोगों के बीच रहकर, लोगों की सेवा करने की मेरी यात्रा तो कई दशक पहले से चल रही थी, किन्तु आज से 20 वर्ष पूर्व, गुजरात के सीएम के तौर पर मुझे नई जिम्मेदारी मिली थी.

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार के मुखिया के तौर पर पहले सीएम और फिर देश के लोगों के आशीर्वाद से देश के PM पद पर पहुंचा, इसकी कल्पना मैंने कभी नहीं की थी. 20 वर्ष की ये अखंड यात्रा आज अपने 21वें साल में प्रवेश करने जा रही है. ऐसे अहम अवसर पर ऐसी धरा पर आना, जिस धरती ने मुझे लगातार अपना स्नेह, अपनत्व प्रदान किया है, वहां आना, बहुत बड़ा शौभाग्य समझता हूं. 100 वर्षों के इस सबसे बड़े संकट का सामना हम जितनी वीरता से कर रहे हैं, उसे दुनिया देख रही है. कोरोना से जंग के लिए इतने कम वक़्त में भारत ने जो सुविधाएं तैयार कीं, वो हमारे देश के सामर्थ्य को दिखाता है.

पेरू के राष्ट्रपति ने किया प्रधानमंत्री गुइडो बेलिडो के इस्तीफे का ऐलान

फिलिस्तीन ने इजरायली अदालत के इस फैसले को किया खारिज

सैन फ्रांसिस्को ने सर्वसम्मति से किया कैनबिस इक्विटी कानून पारित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -