गुलाबी रंग है सौभ्याय का प्रतीक

गुलाबी रंग सौभाग्य का प्रतीक है, बल्कि इसकी शोभा हर रंग से न्यारी है. गुलाबी रंग को पूरे संसार में प्यार का प्रतीक माना जाता है. गहरा गुलाबी रंग स्त्रीत्व तथा उत्सव को दर्शाता है. मध्यम गुलाबी कोमलता एवं स्वभाव की सरलता का प्रतीक है.

यह रंग हमें सुकून देता है तथा परिवारजनों में आत्मीयता बढ़ाता है. बेडरूम के लिए यह रंग बहुत ही अच्छा है. गुलाबी रंग सबसे नाजुक रंग है तथा घर की सज्जा में नाजुकता और सुन्दरता का अहसास भर देता है. यह रंग लगभग सभी रंगों के साथ प्रयोग किया जाता है क्योंकि यह एक शीतल रंग है.

गुलाबी गाल अच्छी सेहत का भी प्रतीक भी होते हैं. थोड़ा गहरा गुलाबी रंग खुशी का प्रतीक होता है. भारत तो रीति-रिवाजों, त्योहारों का देश है और हर रीति-रिवाज के पीछे कोई न कोई रहस्य छिपा होता है. जब नव-वधु घर आती है तो पैरों में गुलाबी रंग लगाकर (जिसे लक्ष्मी स्वरूप माना जाता है) पूरे घर में उसके पद-चिन्ह लगाए जाते हैं ताकि लक्ष्मी इन गुलाबी पद-चिन्हों की भांति सदैव घर में विराजमान रहें और गुलाब की ही तरह घर में खुशियां महकती रहें.

सोचे कुछ अपने बारे में भी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -