हे गणपति बप्पा, बारिश को रोको, मजा हो रहा किरकिरा

Sep 21 2015 03:09 PM
हे गणपति बप्पा, बारिश को रोको, मजा हो रहा किरकिरा

उज्जैन: बेमौसम बारिश ने गणेशोत्सव का मजा बिगाड़ दिया है। गुरूवार की रात जहां जोरदार बारिश हुई वहीं शुक्रवार को भी सुबह से ही आकाश में बादल छाए रहे वहीं दोपहर होते-होते एक बार फिर जमकर बादल बरसे तो गणेश उत्सव पांडालों में रेलम पेल हो गई और आयोजक भागदौड़ करते नजर आए। वैसे तो अभी सिंतबर माह चल रहा है तथा इस माह के दौरान बारिश की बिल्कुल भी संभावना नहीं थी, लेकिन जिस दिन गुरूवार को गणेश जी विराजमान हुए उसी दिन से बारिश आने लगी।

हालांकि गणेशोत्सव के आयोजकों द्वारा पांडालों में बारिश से बचाव की व्यवस्था जरूर की है लेकिन चुंकि बारिश की संभावना नहीं थी इसलिए पूरी तरह से व्यवस्था न करना ही आयोजकों ने उचित समझा। लेकिन जिस तरह से गुरूवार की रात तथा शुक्रवार को बारिश आई, उसने निश्चित ही आयोजकों को चिंता में डाल दिया है। कुछ आयोजकों ने बताया कि गणेश प्रतिमा के स्टेज पर तो चद्दर का शेड लगाने के कारण प्रतिमा को तो बारिश के पानी से नुकसान नहीं पहुंचा परंतु वह हिस्सा जरूर तरबतर हो गया, जहां कार्यक्रमों के लिए जगह निर्धारित की गई थी।

हाल-फिलहाल अधिकांश आयोजकों द्वारा कार्यक्रम स्थलों को परिवर्तित कर दिया गया है, ताकि कार्यक्रमों के दौरान यदि बारिश होती भी है तो किसी तरह से विघ्न उत्पन्न न हो सके। इसलिए आस-पास के हाॅल आदि जैसे सुरक्षित स्थानों को बुक कर लिया गया है। गौरतलब है कि दस दिवसीय गणेशोत्सव के दौरान शहर भर में कई स्थानों पर गणेश प्रतिमाओं की स्थापना की गई है तथा इन स्थानों पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। परंतु गणेशोत्सव के पहले ही दिन बारिश ने उत्सव के उत्साह पर पानी फेर दिया है।