UNSC में फिर औंधे मुंह गिरा पाक, कर रहा था भारत को बदनाम करने की कोशिश

वाशिंगटन: भारत ने चार भारतीय नागरिकों को '1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति' के तहत सूचीबद्ध कराने की पाकिस्तान की नाकाम कोशिश का उल्लेख करते हुए कहा कि देशों को ''बदला लेने के इरादे से निर्दोष आम नागरिकों को'' बगैर किसी सबूत के ''आतंकवादियों के रूप में सूचीबद्ध'' कराने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) का गलत इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

बता दें कि पाकिस्तान ने सुरक्षा परिषद की '1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति' को भारतीय नागरिकों, अंगारा अप्पाजी, गोबिंद पटनायक, अजय मिस्त्री और वेणुमाधव डोंगरा के नाम भेजते हुए इन्हे आतंकवादी घोषित करने की मांग की थी। परिषद में अप्पाजी और पटनायक को आतंकवादी घोषित करने की पाकिस्तान की कोशिश को अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और बेल्जियम ने पिछले माह ख़ारिज कर दिया। सूत्रों के अनुसार, इन दो लोगों का नाम आंकवादियों की फेहरिस्त में जोड़ने की अपनी मांग के समर्थन में पाकिस्तान ने कोई प्रमाण नहीं भेजा था।

इससे पहले, जून/जुलाई में अजय मिस्त्री और वेणुमाधव डोंगरा के नाम फेहरिस्त में शामिल करने की पाकिस्तान की कोशिश भी परिषद में विफल रही थी। यूनाइटेड नेशंस में भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव एवं कानूनी सलाहकार येदला उमाशंकर ने 'अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के खात्मे के लिए कदम' पर UN सभा की छठी समिति में कहा था कि, ''हमारा मानना है कि UNSC अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा बनाए रखने और आतंकवाद से निपटने के लिए एक असरदार मंच बना हुआ है।''

WHO ने फिर डराया, कहा- हर 15 सेकंड में पैदा होगा एक मारा हुआ बच्चा, अगर कोरोना....

WHO प्रमुख का बड़ा ऐलान, बताया कब तक आ जाएगी कोरोना की वैक्सीन

कोरोना को लेकर फिर ड्रैगन पर भड़के ट्रम्प, कहा- बड़ी कीमत चुकाने के लिए तैयार रहे चीन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -