बॉर्डर पर बढ़ी निगरानी तो ISI ने ढूंढा नया तरीका, अब यूपी-बिहार के युवाओं में भर रहा जहर

Jun 18 2019 06:30 PM
बॉर्डर पर बढ़ी निगरानी तो ISI ने ढूंढा नया तरीका, अब यूपी-बिहार के युवाओं में भर रहा जहर

श्रीनगर: भारत और पाकिस्तान बॉर्डर पर सेना और सुरक्षा बलों की चक चौबंद निगरानी के कारण पाकिस्तान की आइएसआई (ISI) अब नेपाल के माध्यम से जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले का षड्यंत्र रच रही है. ख़ुफ़िया एजेंसीज़ की रिपोर्ट के अनुसार बीते कुछ महीनो में आतंकियों के नेपाल जाकर ISI के ऑपरेटिव के साथ ही आतंकी गुटों के कमांडर्स से मिलने की सूचना मिली है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वर्ष मार्च और अप्रैल के महीने में दो कश्मीरी आतंकी नेपाल गए और जहां उनकी मुलाकात आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर्स से हुई, इस मुलाकात का सारा इंतजाम पाकिस्तान की ISI ने का कराई. बैठक में उनकी मुलाक़ात हिजबुल के ही तीन और आतंकियों से कराइ गई जिसके बाद आतंकी हमले का षड्यंत्र को अंजाम देने के लिए सभी पांचों आतंकी वापस कश्मीर आ गए.

सुरक्षा से सम्बंधित अधिकारियों के अनुसार, आतंकी संगठनों को सुरक्षा बलों पर आतंकी हमले के लिए ISI निर्देश देती है, किन्तु अब आतंकी गुटों को ये दर सताने लगा है कि उन पर भारतीय एजेंसीज़ निरंतर नज़र रख रही है, ऐसे में अब आतंकी कश्मीर से नेपाल जा कर ISI के अफसरों से मिल रहे हैं जहाँ उनको हमले के लिए सहायता दी जाती है. आतंकियों को ISI नेपाल में पैसे भी उपलब्ध करा रही है.

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: टेक्सास में तैयारियां चरम पर, होगा कई कार्यक्रमों का आयोजन

सर्वाइकल पैन से छुटकारा दिलाएंगे ये आसन..

भारत सरकार ने लिया इन अमेरिकी वस्तुओं पर आयात शुल्क लगाने का निर्णय