लेनिन के बाद अब एक और मूर्ति पर हमला

चेन्नई: तमिलनाडु पुलिस ने वेल्लूर ज़िले में पेरियार इ वी रामास्वामी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में दो लोगों को गिरफ़्तार किया है. पुलिस के मुताबिक दोनों लोग नशे की हालत में थे. पुलिस अधीक्षक पगलवन ने बीबीसी को बताया कि रात नौ बजे के करीब पुलिस को जानकारी मिली कि वेल्लूर के तिरुपत्तूर तालुका में दो लोग पेरियार की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं.

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक पेरियार के संगठन द्रविड़ कणगम और डीएमके के कुछ कार्यकर्ताओं ने उन्हें मूर्ति पर चोट करते देखा और पकड़कर स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया. गिरफ़्तार लोगों में से एक का नाम मुरुगानंदम है. वो वेल्लूर में बीजेपी के शहर महासचिव हैं. दूसरे व्यक्ति का नाम फ्रांसिस है और वो कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ता हैं.

इस घटना के पहले मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के सचिव एच राजा की एक फ़ेसबुक पोस्ट पर विवाद शुरु हो गया था. राजा ने फ़ेसबुक पर लिखा था कि 'त्रिपुरा में जिस तरह लेनिन की मूर्तियां तोड़ी गईं, एक दिन तमिलनाडु में उसी तरह पेरियार की मूर्तियां तोड़ी जाएंगी'. इसी ट्वीट को घटना की वजह बताया जा रहा है. आपको बता दें कि, हिंसा के मद्देनज़र त्रिपुरा में धारा 144 लागु कर दी गई है.

आज कोनराड संगमा मेघालय के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे

त्रिपुरा में वामपंथी स्मारकों पर चला बीजेपी का बुलडोज़र

नतीजों पर राहुल का पहला ट्वीट तीन दिन बाद

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -