अब इस्लामिक जिहाद के खिलाफ धर्मसंसद नहीं करेंगे यति नरसिंहानंद, लिया सार्वजनिक जीवन से सन्यास

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत और जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी ने एक चौंकाने वाला ऐलान किया है। उन्होंने सार्वजानिक जीवन से संन्यास लेते हुए पूरी तरह अपना जीवन धार्मिक कार्यों में लगाने की बात कही है। उन्होंने इस्लामी जिहाद के खिलाफ अपनी लड़ाई और धर्म संसद के आयोजन से अपने आप को अलग करने का भी ऐलान किया है। यति नरसिंहानंद ने ये बातें 19 मई 2022 (गुरुवार) को कही। 

जितेंद्र नारायण त्यागी (पूर्व नाम वसीम रिज़वी) पर हुई कार्रवाई के लिए भी यति नरसिंहानंद ने खुद को दोषी बताया है। एक वीडियो जारी करते हुए यति नरसिंहानंद ने कहा है कि, 'हम सभी जितेंद्र नारायण त्यागी को जेल में लेने के लिए आए थे। उनकी रिहाई हो चुकी है। वे हमसे मिलने से पहले ही चले गए हैं। उनसे हमारा यहीं तक का साथ था। उनके साथ हमारे सुखद या दुखद अनुभव का पूर्णतया दोषी मैं हूँ। उनकी कोई गलती नहीं है। उन्होंने केवल सच बोला। मेरी कमजोरी के कारण उन्हें 4 माह से अधिक समय तक जेल में रहना पड़ा। इसके लिए मैं उनसे क्षमाप्रार्थी हूँ।'

उन्होंने आगे कहा कि, 'मैं हिन्दू समाज से कहना चाहता हूँ कि मैंने अपना जीवन जितना भी था उसे इस्लाम के जिहाद से लड़ने में बिताया। मगर, अब बचा हुआ जीवन मैं माँ और महादेव के यज्ञ के साथ योगेश्वर की गीता के प्रचार-प्रसार में लगाने की इच्छा रखता हूँ। मैं अब तक खुद से हुई गलतियों के लिए माफी माँगता हूँ। आज के बाद मैं सार्वजानिक जीवन में नहीं हूँ। मेरे जीवन में अब नया अध्याय सिर्फ एक धार्मिक व्यक्ति के रूप में शुरू होता है।' मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यति नरसिंहानंद ने यह फैसला हिन्दू समाज की उदासीनता को देखते हुए लिया है। उन्होंने कहा कि, 'वर्ष 2012 से मैंने देवबंद के इस्लामी जिहाद के खिलाफ धर्म संसद आरंभ की थी। किन्तु वो आज ख़त्म हो रही। धर्म संसद में जेल गए साथियों के लिए संघर्ष में हिन्दू समाज ने हमारा साथ नहीं दिया। हिन्दू समाज के योद्धाओं की दुर्गति हो रही है।'

लालू परिवार के 17 ठिकानों पर CBI के छापे, भ्रष्टाचार के आरोपों पर हुआ एक्शन

महंगाई के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी में कांग्रेस, राहुल गांधी फिर विदेश दौरे पर

जेल में 3 महीने बिना वेतन के रहेंगे सिद्धू, फिर कमा सकेंगे 90 रुपए प्रतिदिन

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -