लालू परिवार के 17 ठिकानों पर CBI के छापे, भ्रष्टाचार के आरोपों पर हुआ एक्शन

पटना: केन्द्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने RJD चीफ और बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव से जुड़े 17 ठिकानों पर छापेमारी की है. बताया जा रहा है कि लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती के पटना, गोपालगंज और दिल्ली स्थित जगहों पर ये छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है. CBI ने ये कार्रवाई भ्रष्टाचार से संबंधित एक मामले में की है, जिसका विरोध शुरू हो चुका है. RJD कार्यकर्ता इसको लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोल रहे हैं.

दरअसल, ये मामला भर्ती घोटाले से संबंधित है. आरोप है कि जॉब लगवाने के बदले में जमीन और प्लॉट लिए गए थे. CBI ने इसी मामले में जांच के बाद लालू यादव, राबड़ी देवी, मीसा यादव, हेमा यादव और कुछ ऐसे प्रत्याशियों पर मामला दर्ज किया है, जिन्हें प्लॉट या प्रॉपर्टी के बदले जॉब दी गई.  CBI सूत्रों ने मीडिया को बताया है कि लालू यादव जब केंद्रीय रेल मंत्री थे, तब नौकरी के बदले लोगों से जमीन ली गई थी. इसी मामले में CBI ने केस दर्ज किया है. CBI इसी मामले में लालू से संबंधित 17 ठिकानों पर रेड मार रही है. 2004 से 2009 के बीच रेलमंत्री थे. जब वे रेल मंत्री थे, जब ऐसे कई मामले सामने आए थे कि नौकरी के एवज में जमीन दी गई थी.  
 
पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी देवी के आवास पर भी छापेमारी चल रही है. आवास के अंदर CBI के अफसर तलाशी ले रहे हैं. ये छापेमारी सुबह से जारी है. लालू यादव के ठिकानों पर RJD विधायक मुकेश रोशन ने कहा कि जिस तरह के से नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच में इफ्तार पार्टी के बाद दूरियां कम हुई है और दोनों साथ दिखाई देते हैं, इससे भाजपा परेशान है. रोशन ने कहा कि भाजपा के इशारे पर ही CBI की छापेमारी चल रही है. रोशन ने कहा कि भाजपा लालू परिवार को परेशान और तंग करने के इरादे से छापेमारी करवा रही है.

जेल में 3 महीने बिना वेतन के रहेंगे सिद्धू, फिर कमा सकेंगे 90 रुपए प्रतिदिन

आज़म खान की रिहाई से गदगद हुए अखिलेश यादव, बोले - झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं

केजरीवाल सरकार को हाई कोर्ट से बड़ा झटका, घर-घर राशन योजना पर लगी रोक

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -