अब ईस्‍ट इंडिया कंपनी पर शासन करेगा भारत

Aug 31 2015 11:38 AM
अब ईस्‍ट इंडिया कंपनी पर शासन करेगा भारत

एक वक़्त था जब भारत पर पश्चिमी सूरज अस्त होने का नाम ही नहीं लेता था, ब्रिटिश कहे सुबह तो सुबह, ब्रिटिश कहे रात तो रात । पर आज इनकी मनमर्ज़ी का सूरज पूरी तरह से ढल चुका है। करीबन 200 वर्ष तक भारत पर शासन करने वाली और देश को अपना ग़ुलाम बनाए रखने वाली ईस्‍ट इंडिया कंपनी अब भारतीय इशारों पर नाचेगी।

हाल ही में यह खुलासा हुआ है की मुंबई के हीरा व्यवसायी संजीव मेहता ने ईस्‍ट इंडिया कंपनी को खरीद लिया है। संजीव का मानना है की यह डील उनके लिए व्यावसायिक तौर पर जितनी अहम है उससे भी कहीं ज्यादा भावनात्मक तौर पर मायने रखती है। मेहता ने 15 मिलियन डॉलर में इस पश्चिमी कंपनी को खरीदा है । भारत पर वर्षों तक शासन करने वाली इस कंपनी की बागडोर अब संजीव मेहता नामक भारतीय व्यक्ति के हाथों में है।

कंपनी को अपना बनाने की ज़िद में संजीव ने करीबन 40 शेयर धारकों से 2010 में इस डील को फाइनल कर लिया था। मेहता का कहना है की उन्होने इस डील के लिए अपनी सारी ताकत लगा दी थी, दिन रात को में कोई फर्क नहीं रहन दिया। चलते, उठते, बैठते बस यही ख्याल चला करता था की हमारे देश पर शासन करने वाली इस कंपनी पर मैं कैसे शासन करूँ।

इस कंपनी की स्थापना सन 1600 में की गयी थी, कंपनी ने 17वीं और 18वीं शताब्दी में पूरी दुनिया पर व्यावसायिक तौर पर राज किया है। और इसी प्रकार 1757 में भारत पर इसने अपनी नज़र डाली और साथ ही साथ 'फूट डालो और शासन करो' की नीति अपनाते हुए समूचे भारत वंश पर अपना अधिकार जमा लिया था। अब इसी ईस्‍ट इंडिया कंपनी पर अपना अधिकार जमाते हुए संजीव ने इसे नया आयाम देने के लिए विभिन्न तरह की योजना बना डाली है। योजना में कंपनी को ई-कॉमर्स के जरिये बाज़ार में उतारना भी शामिल हैं। हाल ही में कंपनी के इस ब्रांड को 15 अगस्त, स्वतन्त्रता दिवस के पावन अवसर पर लॉन्च किया जा चुका है।