नितीश और चुनाव आयोग ने एक सुर में कहा, 'एक देश एक चुनाव' संभव नहीं

नितीश और चुनाव आयोग ने एक सुर में कहा, 'एक देश एक चुनाव' संभव नहीं

नई दिल्ली : एक देश एक चुनाव की प्रणाली पर भारतीय जनता पार्टी ने अपना रूख साफ कर दिया है. भारतीय जनता पार्टी की हरसंभव कोशिश है कि आने वाले सभी चुनाव एक साथ हो. इसे लेकर कल भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने विधि आयोग को एक लंबा-चौड़ा पत्र भी लिखा था, जिसमे उन्होंने एक देश एक चुनाव की मांग को प्रमुखता से रखा था. वहीं अब बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने भी इस पर अपनी बात रखी है. 

'एक देश एक चुनाव' : विधि आयोग के नाम अमित शाह का खुला खत

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक़, अगले साल लोकसभा के साथ 11 राज्यों के चुनाव भी हो सकते है इस पर नितीश कुमार का कहना है कि यह संभव नहीं है कि 2019 लोकसभा चुनाव के साथ 11 राज्यों के विधानसभा चुनाव भी हो. नितीश ने कहा कि यह केवल एक विचारधारा है. एक देश एक चुनाव को लेकर अब चुनाव आयोग ने भी अपनी बात रखी है. चुनाव आयोग का कहना है कि आगामी लोकसभा चुनाव के साथ 11 राज्यों के चुनाव कराना संभव नहीं है. 

एक देश एक चुनाव को लकर सियासी पारा काफी गर्म है. कांग्रेस ने भी इस दौरान एक देश एक चुनाव पर अपनी बात रखी है. कांग्रेस ने भी संकेत दिए है कि वह इसके पक्ष में है. हालांकि कांग्रेस का कहना है कि पीएम मोदी अगर वर्तमान लोकसभा भंग करते है तो वह एक दश एक चुनाव के समर्थन में है. 

खबरें और भी...

एक देश एक चुनाव : मोदी को रजनीकांत का समर्थन दिया यह बड़ा बयान

पटना आसरा गृह मामला: पप्पू यादव ने सुनी पीड़िताओं की आपबीती

तेजस्वी ने मांगा नितीश से इस्तीफ़ा, कहा- बिहार चलाने में असमर्थ

?