Share:
'नीतीश कुमार को कोई विषैला खाना खिलाया जा रहा है, इसलिए उनका संस्कार गिर गया है', CM के तू-तड़ाक से भड़के जीतनराम मांझी
'नीतीश कुमार को कोई विषैला खाना खिलाया जा रहा है, इसलिए उनका संस्कार गिर गया है', CM के तू-तड़ाक से भड़के जीतनराम मांझी

पटना: बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र का आज आखिरी दिन है. सदन की कार्यवाही आरम्भ होते ही जीतनराम मांझी को लेकर दिए गए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान को लेकर हंगामा आरम्भ हो गया. इसके बाद पहले जदयू विधायकों ने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर हंगामा आरम्भ कर दिया. बाद में सदन की कार्यवाही 2 बजे तक रद्द कर दी गई. तत्पश्चात, मीडिया से चर्चा करते हुए जीतनराम मांझी ने कहा, 'गुस्से में नीतीश जी बोले. मैं 80 साल का हूं .. वो 74 साल के हैं.. 1980 में मैं विधायक बना.. 1985 में वो विधायक बने.. उनको तू तड़ाक करके बात नहीं करना चाहिए था.. मुख्यमंत्री को खाने में विषैला खाना खिलाया जा रहा है.. जिसका कारण है कुछ दिनों से पता नहीं क्या क्या बोल रहे हैं.. उनका संस्कार गिर गया है..'

इससे पहले सीएम नीतीश कुमार के जीतन राम मांझी को लेकर दिए बयान के कारण मांझी और NDA के विधायकों ने  स्पीकर के कक्ष के बाहर धरना प्रदर्शन किया. भाजपा विधायकों ने बिहार के सीएम के इस्तीफे की मांग की. सदन की कार्यवाही आरम्भ होते ही सत्तापक्ष और विपक्ष, दोनों ही तरफ से हंगामा होना आरम्भ हो गया. दोनों पक्ष वेल की तरफ बढ़े और विपक्ष ने वहां पर कब्जा कर लिया. तत्पश्चात, स्पीकर ने मार्शल्स को प्ले कार्ड लेने के लिए कहा. इस के चलते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी उपस्थित रहे तथा हंगामा बढ़ता देखते नीतीश कुमार सदन से निकलकर विधानसभा स्थित अपने चैंबर में चले गए.

तत्पश्चात, मीडिया से चर्चा करते हुए जीतन राम मांझी ने कहा, "विधानसभा के अभिरक्षक अध्यक्ष हुआ करते हैं... इस बात का दुख है कि सदन के अध्यक्ष (अवध बिहारी चौधरी) सत्ता पक्ष के पक्ष में अपना सारा निर्णय दे रहे हैं, जो इस संविधान और जनतंत्र के लिए घातक है. सीएम (नीतीश कुमार) तो दोषी हैं ही लेकिन हमारे अध्यक्ष भी उनसे कम दोषी नहीं हैं... " इससे पहले बृहस्पतिवार को बिहार विधानसभा में जातिगत सर्वे और आरक्षण का दायरा बढ़ाने पर चर्चा हुई. इस के चलते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बीच तीखी बहस देखने को मिली. मुख्यमंत्री नीतीश ने यह तक कह दिया कि मांझी उनकी (नीतीश) की मूर्खता से सीएम बने. बता दें कि चर्चा के चलते पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा था कि हम नहीं मानते कि बिहार की जातिगत जनगणना सही हुई है. यदि आंकड़े गलत हैं तो सही लोगों तक लाभ नहीं पहुंचेगा.

करोड़ों का सोना दान करने वाले KCR के पास अपनी 'कार' तक नहीं, चुनावी हलफनामे में खुद को बताया 'किसान'

'पत्नी बीमार है, उनके साथ 5 दिन बिताने की अनुमति दीजिए..', कोर्ट में AAP नेता मनीष सिसोदिया की अर्जी

'नीतीश कुमार के राजनीतिक जीवन का क्लाइमेक्स चल रहा है...', CM पर PK का हमला

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -