एनएचपीसी का 43वां स्थापना दिवस मनाया गया

जलविद्युत के बाद पवन और उर्जा क्षेत्र में सफल विविधीकरण के साथ उभरे देश के सबसे बड़े पनबिजली संगठन एनएचपीसी ने मंगलवार को 43वां स्थापना दिवस मनाया. कठुआ जिले के माश्का स्थित दो पावर स्टेशन में उत्साह और राष्ट्रवादी सोच के साथ यह स्थापना दिवस मनाया गया. इस दौरान कईं रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए गए.

समारोह के मुख्य अतिथि ऊर्जा विभाग के केंद्रीय सचिव एके भल्ला थे और विशिष्ट अतिथि बड़खल की विधायक सीमा त्रिखा थी. स्थापना दिवस के मौके पर रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया और लंगर भी लगाया गया. इसमें राजस्थान, असम अरुणाचल प्रदेश के कलाकारों ने लोक गीत और नृत्य पेश किए.

इस मौके पर मुख्यातिथि विद्युत सचिव एके भल्ला ने संस्थान के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी, साथ ही निगम के प्रदर्शन पर भी प्रकाश डाला. उन्होंने एनएचपीसी के विद्युत क्षेत्र में योगदान की सराहना और कठिन परिस्थितियों में काम करने के लिए प्रशंसा की. इस अवसर पर विधायक सीमा त्रिखा ने एनएचपीसी द्वारा अपने आसपास के इलाकों में किए गए सीएसआर गतिविधियों की सराहना की, वहीं एनएचपीसी के अध्यक्ष प्रबंध निदेशक बलराज जोशी ने एनएचपीसी की उपलब्धियों के बारे में बताया.

प्रद्युम्न हत्याकांड के आरोपी छात्र को थी ये गन्दी लत

एनडीएफबी का उग्रवादी साथी सहित पकड़ा गया

भतीजी को बचाने भालू से भिड गई सविता

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -