सरकारी स्कूलों में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम को शामिल किया जायेगा

सरकारी स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था में सुधार करने के लिए सरकार अब नई व्यवस्था लागू करने जा रही है. इस व्यवस्था के तहत प्रदेश की सरकारी स्कूलों में भी अब एनसीईआरटी का कोर्स पढ़ाया जाएगा.  ये नई व्यवस्था स्कूलों में नए सत्र से लागू हो जायेगी. इस व्यवस्था के तरह अब स्कूलों में पढाई के दौरान प्रोजेक्ट कार्य पर अधिक ध्यान दिया जाएगा.  

इस व्यवस्था के अनुसार अब एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू होने से माध्यमिक शिक्षा मंडल और सीबीएसई की पढ़ाई एक सामान हो जायेगी. मध्य प्रदेश बोर्ड के विद्यार्थी जब एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम पढ़ेंगे तो उन्हें सबसे अधिक सहायता प्रतियोगी परीक्षाओं को पास करने में रहेगी.  प्रतियोगी परीक्षाओं में सवाल एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम से ज्यादा सवाल पूछे जाते हैं. ऐसे में इन विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं को पास करने में आसानी रहेगी.

 
एक जैसे शिक्षा नीति को लागू करने के लिए  विभाग नए सत्र 2018-19 से सरकारी स्कूलों में एनसीईआरटी का  पाठ्यक्रम बच्चों को पढ़ाया जाएगा. इसके लिए शिक्षकों को पढ़ाई की नई तकनीक सिखाने के लिए  शिक्षकों को जल्द ही ट्रेनिंग भी दी जायेगी. शिक्षकों को ट्रेनिंग शिक्षा विभाग में दी जायेगी. इस शिक्षा नीति से विद्यार्थियों का संपूर्ण विकास हो सकेगा.  

मध्य प्रदेश : किसान आंदोलन की तैयारी में

परिवहन विभाग के अधिकारियों से मिलेंगे बस ऑनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी

प्रदेश के बारह जिलों में लू चलने की संभावना

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -