सांप के काटने पर कभी ना करें ये गलतियां, बढ़ सकता है जान का खतरा

सांप के काटने पर कभी ना करें ये गलतियां, बढ़ सकता है जान का खतरा

बरसात के मौसम जब झाड़ पेड़ बढ़ने लगते हैं तो जंगली और विषैले जानवर भी होने लगते हैं. बरसात के इन दिनों में घरो में सांप निकलने की समस्या भी बहुत सुनाई देती हैं. इससे आपकी जान को खतरा बना रहता है. कई बार ऐसा होता है जब सांप काट लेता है और उस पर उस समय जो समझ में आता है वो इलाज कर लेते हैं. भारत में जहरीले सांप का प्रतिशत बहुत कम हैं लेकिन फिर भी भारत में जहरीले सांपों की 13 प्रजातियां हैं. ऐसे में सांप के काटने का खतरा इन दिनों में बहुत रहता हैं. लेकिन इसमें गलतियां ना करें जो आपका खतरा और भी बढ़ा सकती है. जानिए उनके बारे में. 
 
- सांप ने शरीर के जिस हिस्से पर काटा है, उसके आसपास या उस पर पट्टियां न बांधे. क्योंकि ऐसा करने से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और खून सप्लाई करने वाली नसों के फटने का डर ज्यादा बना रहता है.

- सांप के काटने के बाद कभी भी मरीज़ को टेढ़े न लिटाएं. क्योंकि इससे ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित हो सकता है. मरीज़ को सीधे लिटाकर इलाज़ के लिए अस्पताल ले जाएं. जैसे स्ट्रेचर पर मरीज़ को लिटाया जाता है.

- एस्प्रिन या कोई दर्द निवारक दवा बिलकुल न दें. क्योंकि इससे मरीज़ की वास्तविक स्थिति का अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है. मरीज़ का दर्द बढ़ सकता है.

- सांप के काटने के बाद प्रभावित हिस्से में चीरे का निशान न लगाएं. क्योंकि चीरे के निशान से सांप का ज़हर दोगुनी रफ़्तार से खून के जरिए शरीर में फैलने लगता है. दिमाग पर असर छोड़ता है. कुछ ही देर में मौत हो सकती है.

- शरीर के जिस हिस्से पर सांप ने काटा है, उसे ज्यादा न हिलाएं. मरीज़ को चलने न दें. क्योंकि मांसपेशियों में रगड़ से ज़हर फैलने की रफ़्तार दोगुनी हो जाती है.

ये हैं दुनिया के कुछ अजीबोगरीब तथ्य, जो आपको कर देंगे हैरान

85 सालों से चली आ ये अजीब परम्परा, किया जाता है मिर्च से अभिषेक

काफी समझदार होते हैं गधे, याददाश्त होती है तेज़, जानें अन्य अनजाने तथ्य