नवरात्रि : नवरात्रि के दौरान भूलकर भी न करें ये काम, जानिए व्रत के नियम

Aug 14 2020 04:38 PM
नवरात्रि : नवरात्रि के दौरान भूलकर भी न करें ये काम, जानिए व्रत के नियम

सबसे कठिन व्रत में से एक नवरात्रि का व्रत होता है. कोई यह व्रत एक दिन, कोई अष्टमी या कोई नवमी तिथि को रखता है, तो वहीं कोई नवरात्र का व्रत लगातार 9 दिनों तक रखता है. हालांकि व्रत रखने से अधिक महत्वपूर्ण इसके नियमों का पालन करना है. नवरात्रि का व्रत रखने के दौरान किन नियमों से गुजरना है, इसके बारे में अवश्य जान लीजिए.

 

नवरात्रि व्रत के नियम...

- नवरात्रि का व्रत रखने के लिए संकल्प लेना होगा. माता के समक्ष खड़े होकर आप पहले दिन व्रत रखना चाहते हैं, तो उस दिन के लिए जबकि लगातार 9 दिनों तक आप व्रत रखना चाहते हैं तो इसके अनुसार व्रत का संकल्प लें.

- नवरात्रि के दौरान हर दिन सूर्योदय से पहले उठना है और स्नान आदि के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण करना है. 

- बच्चे, वृद्ध महिला-पुरुष, बीमार महिला-पुरुष को यह व्रत नहीं रखना चाहिए. क्योंकि नियमों का पालन इस दौरान नहीं हो पाता है.

- नवरात्रि के दौरान ध्यान रहें कि आपको तामसिक भोजन(लहसुन, प्याज) ग्रहण नहीं करना है. वहीं मांसाहार, ठंडा भोजन, झूठा भोजन और शराब से भी दूरी बनाना है.

- नवरात्रि के दौरान न ही बाल कटाए और न ही नाखून काटें. तेल से मसाज भी न करें और न ही दिन के समय में नींद लें.

- नवरात्रि में शारीरिक संबंध बनाने से भी दूरी बनाए. ऐसा न करने से आप बहुत बुरे पाप के भोगी बन सकते हैं.

- नवरात्रि के हर दिन माता के पूजन के बाद आप 1 कन्या का पूजन करें और उसे भोजन कराए. अंत में कन्या को दक्षिणा देकर विदा करें.

- नवरात्रि का व्रत रखने वाले भक्तों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि जब तक माता की पूजा-अर्चना न हो जाए तब तक फलाहार या भोजन ग्रहण नहीं करना है.

- व्रत रखने वाले भक्तों को सदा माता की भक्ति में लीन रहना चाहिए. आप चाहे अन्य कोई काम कर रहे हो हालांकि मन में माता का नाम अवश्य होना चाहिए. निरंतर आपको माता जी का नाम लेते रहना है. 


नवरात्रि : नवरात्र व्रत खोलने की विधि, उपवास के दौरान ऐसा होना चाहिए आहार

 

 

नवरात्रि : इस तरह स्थापित करें कलश, जानिए पूजा विधि और मन्त्र के बारे में...

नवरात्रि : इस तरह स्थापित करें कलश, जानिए पूजा विधि और मन्त्र के बारे में...

नवरात्रि : 9 देवी, 9 दिन और 9 मंत्र...