नवरात्रि : नवरात्र व्रत खोलने की विधि, उपवास के दौरान ऐसा होना चाहिए आहार

Aug 14 2020 04:09 PM
नवरात्रि : नवरात्र व्रत खोलने की विधि, उपवास के दौरान ऐसा होना चाहिए आहार

नवरात्रि के दौरान हर कोई श्रद्धा-भक्ति के साथ माता की कृपा के लिए व्रत रखता है और इस दौरान वह कई बदलावों से गुजरता है. लगातार पूरे 9 दिन तक व्रत रखना कोई आसान काम नहीं होता है. कई लोग शाम के समय प्रतिदिन व्रत खोलते हैं, तो वहीं कई लोग नवरात्रि के समापन के बाद ही संकल्प पूरा कर व्रत खोलते हैं. ऐसे में नवरात्रि के व्रत को खोलने की सही विधि के बारे में भी जानकारी होना जरूरी है, कि नवरात्र का यह व्रत खोले तो किन बातों को ध्यान में रखते हुए खोला जाना चाहिए. 

नवरात्रि या नवरात्र व्रत खोलने की विधि...

जब भी व्रत रखने वाले भक्तगण शाम को या रात्रि के समय अपना व्रत खोले तो इस दौरान आपको यह ध्यान रखना है कि हर दिन की तरह आपको भरपूर मात्रा में भोजन नहीं करना है. इस दौरान आपको हल्का भोजन ग्रहण करना है, जिससे कि आपका शरीर भी हल्का रहें. जबकि इस दौरान तला-भुना हुआ भोजन भी ग्रहण करने से बचें. इससे आपके शरीर पर तो बुरा असर होगा ही साथ ही उपवास प्रक्रिया को भी यह बिगाड़ सकता है. ऐसा भोजन ग्रहण करें जो कि आसानी के साथ पच जाए हालांकि इसकी मात्रा कम ही होनी चाहिए. 

नवरात्रि व्रत का आहार...

- नवरात्रि व्रत के दौरान खाने के लिए कई आहार है इनमे प्रमुख रूप से साबूदाना से बने व्यंजन, सिंघाड़ा का आटा, राजगीरा, रतालू , अरबी, उबले हुए मीठे आलू (शक्कर कंद), कूटू (एक प्रकार का अनाज) रोटी, उपवास के चावल (शामक चावल), आदि शामिल है.

- नवरात्रि व्रत के दौरान मक्खन (घी), दूध और छाछ का भी सेवन किया जा सकता है.

- नवरात्रि व्रत में सेब, केला, चीकू, पपीता, तरबूज, और मीठे अंगूर की तरह मीठे फल भी मान्य है.

- नारियल पानी, जूस, सब्जियों के सूप, आदि का सेवन भी आप नवरात्र व्रत में कर सकते हैं.

 

नवरात्रि : इस तरह स्थापित करें कलश, जानिए पूजा विधि और मन्त्र के बारे में...

नवरात्रि : 9 देवी, 9 दिन और 9 मंत्र...

नवरात्रि : क्यों लगातार 9 दिनों तक रखा जाता है व्रत, जानिए इसका महत्व ?