नवरात्रि में इन रंगों के कपड़ों पर होती है माँ की कृपा

नवरात्री के नौ के दिन हिन्दूओं के लिए सबसे बड़ा और सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार माना जाता है. इस दिन भक्त लोग पूरे नौ दिनो तक नवरात्रि का उपवास रखते है और आखिरी के नौवे दिन में कन्या भोज भी करवाते है. इस नवरात्रि के त्यौहार में गरबे का भी चलन है युवक युवतियां नए रंग बिरंगे पौशाक पहनकर गरबा खेलते है. वैसे आपको बता दें की नवरात्रि के दिन भी रंग बिरंगे कपड़े पहन कर माँ दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है. तो आज हम बात करेंगे नवरात्री के कौन से दिन कौन से कपड़े पहनना चाहिये-
 
नवरात्रि का पहला दिन:- यह दिन माता शैलपुत्री का दिन होता है. इस दिन लाल कपड़ा पहनना शुभ माना जाता है.
 
दूसरा दिन:- यह दिन माता ब्रह्मचारिणी का दिन होता है. इस दिन मां का श्रृंगार नारंगी रंग की साड़ी में किया जाता हैं वहीं, श्रद्धालुओं के लिए हरे रंग के वस्त्र पहनना शुभ माना गया हैं.
 
तीसरा दिन:- यह दिन चन्द्रघंटा माता का होता है. मां इस दिन श्वेत वस्त्र धारण करती है, और भक्तगण इस दिन भूरे रंग के कपड़े पहनते है तो उन्हें उच्च फल की प्राप्ति होगी.
 
चौथा दिन:- यह दिन कुष्मांडा माता का होता है. आदिशक्ति के नाम से जाने वाली माता का श्रृंगार लाल रंग से किया जाता है और भक्तों को इस दिन नारंगी रंग के कपड़े धारण करना चाहिए.
 
पांचवा दिन:- यह दिन स्कन्द माता का होता है. यह माता कार्तिकेय स्वामी को लेकर विराजित है. इस दिन मां को नीले रंग का वस्त्र पहनाया जाता है, इस दिन भक्तों को सफेद रंग के कपड़े जरूर पहनने चाहिए.
 
छठवां दिन:- नवरात्रि का छठवां दिन मां कात्यायनी का होता है. इस दिन मां को पीले रंग का वस्त्र समर्पित किया जाता है, अगर इस दिन आप गरबा और डांडिया खेल रहे हो तो इस दिन लाल रंग के वस्त्र पहनकर जाएँ शुभ होगा.
 
सातवाँ दिन:- इस दिन मां कालरात्रि की आराधना की जाती हैं, इस दिन नीले रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है.
 
आठवाँ दिन:- यह दिन दुर्गा माता का होता है. दुर्गा माता को महागौरी भी कहते है और इनका स्वरुप गुलाबी रंग का होता है, इसलिए इस दिन गुलाबी रंग के कपड़े पहनना चाहिए.

नौवा दिन:- नवरात्रि के नौवें दिन मां जगदंबा के सिद्धिदात्री स्वरुप की पूजा की जाती है. माता को जामुनी रंग बहुत पसंद है इसलिए इस दिन जामुनी रंग के कपड़े पहनना चाहिए.
 
 
- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -