NASA ने खोजे दूसरे ब्रम्हांड के प्रमाण, जहाँ उलटा चलता है समय

नई दिल्ली: विश्व में वैज्ञानिक कई हैरान करने वाले आविष्कार या शोध करते रहते हैं. अब नासा के वैज्ञानिकों ने एक समानांतर ब्रह्मांड (Parallel Universe) के होने के प्रमाणों को खोज निकाला है, जहां के भौतिकी नियम यहां से एकदम विपरीत हैं. यानी वहां पर समय, आगे चलने की बजाए पीछे की तरफ चलता है.

नासा के वैज्ञानिकों ने अंटार्कटिका (Antarctica) में किए जा रहे प्रयोग में अंटार्कटिका से ऊपर जाने के लिए रेडियो डिटेक्टर लगे एक बड़े गुब्बारे का उपयोग किया था. नासा के इस रेडियो डिटेक्टर का नाम अंटार्कटिका इम्पल्सिव ट्रांजिएंट एंटीना (ANITA) है. वैज्ञानिकों का कहना है कि अंटार्कटिका पर किरणों का व्यवधान कम से कम होगा. इसके साथ ही यहां वायु प्रदूषण और न ही किसी ध्वनि प्रदूषण की संभावना नहीं थी. 

शोध में वैज्ञानिकों ने पाया कि हाई-एनर्जी के कण लगातार हवा के माध्यम से अंतरिक्ष से धरती पर आते हैं. हाई-एनर्जी कणों को सिर्फ अंतरिक्ष से 'नीचे' आने का पता लगाया जा सकता है, किन्तु वैज्ञानिकों की टीम ने उन भारी कणों का पता लगाया है जो पृथ्वी के 'ऊपर' से आते हैं. जिसका अर्थ यह है कि यह कण हकीकत में धरती के एक समानांतर ब्रह्मांड होने का सबूत देते हैं, जहां पर वक़्त उल्टा चलता है. हालांकि वैज्ञानिकों की परिकल्पना पर सभी लोग सहमत नहीं हैं. रिपोर्ट में बताया गया है कि 13.8 बिलियन वर्ष पूर्व  बिग बैंग के समय, दो ब्रह्मांड बने थे. एक वो जहां हम रहते हैं और दूसरा जो समय के साथ पीछे चल रहा है.

अमेरिका में बढ़ा कोरोना का खौफ, 24 घंटों में 1500 से अधिक मौत

क्या ऊदबिलाव से फैला था नया प्रकार का कोरोना वायरस ?

कोरोना संकट के बीच रद्द हुई इंग्लैण्ड के खिलाड़ियों की ट्रेनिंग

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -