ज्वैलर को पैसे देने के बहाने महिला ने घर बुलाया फिर पति के साथ....

जयपुर. शहर में अपराध का एक और घिनौना चेहरा सामने आया है जिसे जानकर आप भी दंग रह जाएंगे। पहले एक महिला ने ज्वैलर से जेवर खरीदे, फिर वह महिला पैसे देने के बहाने ज्वैलर को अपने घर ले गई। वहां महिला ने पति और अन्य बदमाशों के साथ मिलकर ज्वैलर को कैद कर लिया। छोड़ने के बदले दुकान की चाबियां ले लीं और तिजोरी के कोड पूछ लिए। जब सभी जानकारियां मिल गई तो ज्वैलर की गला घोंटकर हत्या कर दी। इतना ही नही शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपियों ने अपने ही घर में उसे दफना दिया। पुलिस ने मोबाइल ट्रेसिंग के आधार पर इस वारदात का पर्दाफाश किया। 

ज्वैलर अनिल सोनी की निर्माण नगर में पायल ज्वैलर्स के नाम से शॉप है। शनिवार दोपहर करीब 12:30 बजे भूरी देवी अपने पति राजेंद्र मीणा के साथ अनिल की दुकान पर जेवर खरीदने गई। जब अनिल ने पैसे मांगे तो महिला ने घर चलकर पैसे लेने का कहा। अनिल महिला को पहले से पहचानता था, इस कारण वह राजी हो गया। महिला और उसके पति के दुकान से निकलने के बाद वह भी राजविहार कॉलोनी (सिरसी) स्थित महिला के घर चला गया। 

अनिल जैसे ही घर पहुंचा राजेंद्र मीणा, उसकी पत्नी भूरी ने तीन अन्य बदमाशों के साथ मिलकर उसे बंधक बना लिया। आरोपियों ने अनिल को दुष्कर्म मामले में फंसाने की धमकी भी दी। इस कारणअनिल घबरा गया और दुकान की चाबियों के साथ तिजोरी के कोड भी बता दिए। शनिवार देर रात आरोपियों अनिल की गला घोंट हत्या कर दी। लाश को गड्ढा खोद कर गाड़ दिया। ऊपर से नमक-पानी का घोल उड़ेल दिया। 

रविवार सुबह करीब 5 बजे निर्माण नगर आकर ज्वैलरी शॉप खोलकर सारी ज्वैलरी लूट ले गए। उधर, अनिल के लापता होने और शॉप में लूट के बाद परिजनों ने श्याम नगर थाने में शिकायत की। पड़ोस में ही अनिल के भाई की दुकान स्थित है जिसके बाहर लगे CCTV में दुकान में चोरी की वारदात भी कैद हो गई थी। मोबाइल ट्रेसिंग के बाद पुलिस ने राजेंद्र मीणा, पत्नी भूरी देवी, बेटे सुमित और एक अन्य बदमाश को गिरफ्तार कर लिया।

Most Popular

- Sponsored Advert -