करोड़ों का आसामी निकला, राजस्थान का गरीब मंत्री

जयपुर : राजस्थान सरकार की कार्यप्रणाली को विपक्षी अपने घेरे में लेते रहते हैं। इस बार राजस्थान के सामान्य प्रशासन मंत्री सुर्खियों में हैं। दरअसल मंत्री जीतमल खांट ने ऐसा पांसा चला कि सरकारी जमीन पर ही कब्जा जमा लिया। अब वे करोड़ों की बेशकीमती जमीन पर कुंडली मारकर बैठे हैं। इसके लिए उन्होंने खुद को गरीब बताया। इनकी गरीबी के ठाठ तो देखिए सफेद कलफदार कुर्ता पायजामा पहनकर वे एसयूवी का सफर करते हैं। साथ ही ये अपने पंप से लोगों को पैट्रोल बेचते हैं।

दरअसल यहां गरीब व्यक्ति को जमीन देने के कुछ नियम तय हैं। इन नियमों का हवाला देकर सामान्य प्रशासन मंत्री ने जमीन हड़प ली। मिली जानकारी के अनुसार फाॅरेस्ट डिपार्टमेंट के नियमों के अनुसार जमीन पाने के लिए जो नियम हैं उनके अनुसार जमीन मांगने वाले व्यक्ति का आदिवासी होना और जमीन पर 2005 से लगातार काबिज रहना बेहद आवश्यक है। मामले में डाॅक्युमेंट के माध्यम से यह जानकारी दी कि वे बेहद गरीब हैं और उनके पास रोजगार का कोई साधन नहीं है। ऐसे में जमीन उनके नाम कर दी गई। फिर यह जमीन करीब 2009 से अपने अधिग्रहण में रखे हुए हैं। वन विभाग ने भी मंत्री को गरीब मान लिया, जिसके चलते उसे जमीन दे दी गई। 

बता दे कि यह मामला 2009 का है, लेकिन मामले का खुलासा अभी हुआ है। वर्ष 2013 में विधानसभा चुनाव के अंतर्गत जीतमल खांट द्वारा दायर किए गए हलफनामे के अनुसार, उनके और पत्नी के नाम लगभग 3.5 करोड़ रूपए की जमीन दी गई है। उनका एक पैट्रोल पंप खांट में है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -