मिल्खा ने कहा पुरस्कार लौटाने से व्यवस्था सही नहीं होगी

मिल्खा ने कहा पुरस्कार लौटाने से व्यवस्था सही नहीं होगी
Share:

चंडीगढ़: भारत के प्रसिद्ध एथलीट मिल्खा सिंह ने अपने एक बयान में कहा है की भारत में असहनशीलता के मुद्दे पुरस्कार लौटाने से व्यवस्था सही नहीं होगी. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मिल्खा सिंह ने अपने बयान में कहा की भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में विरोध को जताने के और भी बहुत से अन्य तरीके हैं परन्तु इस प्रकार से लोगो के द्वारा पुरस्कार लौटाने से व्यवस्था सही नहीं होगी. में इन लोगो से पूंछना चाहूंग की असहनशीलता के मुद्दे को लेकर पुरस्कार लौटाने के पीछे सोच क्या है? ऐसा करने से किसी का क्या मकसद हल होगा.

मिल्खा सिंह ने आगे कहा की क्या में भी आप लोगो की तरह अपना पद्म श्री सम्मान लौटाना चाहता हूं तो मेरा बेटा भी इसी तरह की बात करेगा. परन्तु इसके बाद क्या सहायता मिलेगी तथा व्यवस्था कैसे सही होगी, जिसके बारे में वे ऐसा महसूस करते हैं. आपको बता दे की मिल्खा के बेटे जीव मिल्खा सिंह एक बहुत ही मशहूर गोल्फर हैं. मिल्खा ने कहा, ‘अगर आपको किसी चीज पर अपने विचार व्यक्त करने हैं तो पुरस्कार लौटाना बिल्कुल भी जवाब नहीं है. मिल्खा ने कहा की भारत सरकार ने आपकी उपलब्धियों को देखकर ही इस पुरस्कार से सम्मानित किया है.

अगर आप ही इसे सरकार को लौटाएंगे तो विश्व में भारत का क्या नाम रह जाएगा. 1958 और 1962 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले मिल्खा सिंह ने आमिर के असहिष्णुता के विवादास्पद बयान में कहा की हम सभी लोगो की मुख्य चिंता यह होनी चाहिए की अपने देश को मिलकर कैसे आगे बढा सकते हैं.  

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -