81,251 करोड़ रुपये से 8 बड़ी संस्थाओं का होगा बाजार पूंजीकरण

May 09 2021 11:30 AM
81,251 करोड़ रुपये से 8 बड़ी संस्थाओं का होगा बाजार पूंजीकरण

शीर्ष दस-सबसे मूल्यवान कंपनियों में से आठ ने पिछले सप्ताह बाजार पूंजीकरण / मूल्यांकन (एम-कैप) में 81,250.83 करोड़ रुपये जोड़े, टीसीएस सबसे बड़ा लाभार्थी के रूप में उभरा। शुक्रवार को बंद सप्ताह के लिए केवल रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और इंफोसिस ने अपने बाजार पूंजीकरण में घाटा उठाया। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का एम-कैप 11,58,542.89 करोड़ रुपये तक पहुंचने के लिए 34,623.12 करोड़ रुपये उछल गया, जबकि हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड ने अपने मूल्यांकन को 5,66,950.71 करोड़ रुपये में लेने के लिए 13,897.69 करोड़ रुपये जोड़े।

एचडीएफसी का मूल्यांकन 13,728.03 करोड़ रुपये से बढ़कर 4,50,310.13 करोड़ रुपये और कोटक महिंद्रा बैंक का 6,213.06 करोड़ रुपये बढ़कर 3,52,756.84 करोड़ रुपये हो गया। आईसीआईसीआई बैंक का बाजार मूल्यांकन 4,428.5 करोड़ रुपये बढ़कर 4,19,776.85 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक का 4,239.2 करोड़ रुपये बढ़कर 3,19,679.59 करोड़ रुपये हो गया।

बजाज फाइनेंस लिमिटेड का एमसीएपी 2,797.59 करोड़ रुपये से 3,31,436.67 करोड़ रुपये और एचडीएफसी बैंक का 1,323.64 रुपये बढ़कर 7,80,174.61 करोड़ रुपये हो गया। इसके विपरीत, रिलायंस इंडस्ट्रीज का मूल्यांकन 40,033.57 करोड़ रुपये से बढ़कर 12,24,336.42 करोड़ रुपये हो गया और इंफोसिस का मूल्य 639.11 करोड़ रुपये घटकर 5,76,228.85 करोड़ रुपये रह गया। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, बजाज फाइनेंस और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष -10 सबसे मूल्यवान कंपनियों की सूची में सबसे आगे थी।

अच्छी खबर! पेट्रोल-डीजल के दामों में आज नहीं हुई कोई वृद्धि, जानिए क्या है कीमत

भारत को विदेश से मिले कुल 2,060 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 30,000 रेमेडिसविर की शीशियां

अमेज़न ने पाकिस्तान को विक्रेताओं की सूची में जोड़ा, निर्यातकों के लिए बेहतरीन अवसर