मनीष सिसोदिया बोले- खर्च का हिसाब देने में आनाकानी कर रहे हैं दिल्ली यूनिवर्सिटी के कुछ कॉलेज

मनीष सिसोदिया बोले- खर्च का हिसाब देने में आनाकानी कर रहे हैं दिल्ली यूनिवर्सिटी के कुछ कॉलेज

नई दिल्ली: डीयू प्रिंसिपल एसोसिएशन की प्रेस कांफ्रेंस पर शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया का बयान सामने आया है. सिसोदिया ने अपने बयान में दिल्ली विश्विद्यालय के कुछ कॉलेजों पर अपना आमदनी छुपाने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आने वाले कुछ कॉलेज अपनी आमदनी और खर्च का हिसाब-किताब देने से नाटक कर रहे हैं. 

इसके साथ ही दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कुछ कॉलेजों को एफडी में पैसा जमा कराने का आरोप भी लगाया है. मनीष सिसोदिया ने कहा है कि, "...दिल्ली विश्विद्यालय के कुछ कॉलेज दिल्ली सरकार और स्टूडेंट्स से धन लेकर FD में डालते जा रहे हैं और फिर सरकार से बेहिसाब फंड की मांग करते जा रहे हैं. नियम के अनुसार, विभिन्न श्रोतों से इन कोलेजों को जितना धन प्राप्त होता है, उसे उनके कुल खर्च में से कम करके जिन पैसों की आवश्यकता होगी वह दिल्ली सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा. किन्तु जब दिल्ली सरकार ने इन कॉलेजों से आमदनी के स्रोतों का हिसाब-किताब मांगा तो उन्होंने यह देने से इंकार कर दिया."

मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि, "यदि दिल्ली सरकार को ये कॉलेज यही नहीं बताएंगे कि इनके इतने खर्चे इतने कैसे बढ़ गए, जो दिल्ली सरकार द्वारा दिए जाने वाला सैलरी मद के बजट को ढाई से तीन गुना तक बढ़ा देने के बाद भी पूरे नहीं हो रहे, तो दिल्ली सरकार बेहिसाब फंड कैसे मुहैया करवा सकती है? 

बिहार चुनाव: 115 सीटों पर लड़ना चाहती है JDU, भाजपा से कहा- LJP को अपने कोटे से सीट दो

MNS में भर्ती होने के लिए राज ठाकरे के घर लगी भीड़, सोशल डिस्टन्सिंग की उड़ी धज्जियाँ

MNS में भर्ती होने के लिए राज ठाकरे के घर लगी भीड़, सोशल डिस्टन्सिंग की उड़ी धज्जियाँ