सरेआम पादने पर लगा 20 लाख डॉलर का जुर्माना

सरेआम पादने पर लगा 20 लाख डॉलर का जुर्माना

आपने ऑफिस में कर्मचारी के ख़राब वर्क परफॉर्मेंस को देखते हुए बॉस द्वारा कर्मचारियों को दण्डित करने की कई घटनाएं तो देखीं होंगी पर यहाँ जो कर्मचारी के साथ बॉस ने किया उसे जानकर आप दंग रह जाओगे. ऑस्ट्रेलिया में एक कर्मचारी को गैस पास करने के लिए दोषी ठहराया और कर्मचारी को दण्डित करने के लिए 20 मिलियन डॉलर का हर्जाना थोक दिया. 

ऑस्ट्रेलिया के एक आदमी को इंजीनियरिंग कंपनी के खिलाफ केस में 20 लाख डॉलर का हर्जाना देना पड़ा है. उसने अपने पर्यवेक्षक पर प्रताणित करने का आरोप लगाया था. उसने कहा था कि ग्रेग शॉर्ट ने लगातार इंजीनियरिंग कंपनी के स्टाफ के सदस्यों की ओर पैर उठाकर गैस पास की थी.
मेलबोर्न के एक कॉन्ट्रेक्ट एडमिनिस्ट्रेटर डेविड हिंगस्ट ने इस 'फार्टिंग' के केस में 18 लाख 05 हजार 138 डॉलर के नुकसान का दावा किया था. मगर, न्यायाधीश रिटा जैमिट ने अपने फैसले में कहा कि किसी कर्मचारी के गैस पास करने प्रताणित करने का हिस्सा नहीं है. डेविड ने अपने सुपरवाइजर ग्रेग शॉर्ट पर आरोप लगाया था कि वह अभद्र व्यवहार से उसे प्रताणित कर रहा था.

हिंगस्ट ने आरोप लगाया था कि निर्माण इंजीनियरिंग ऑस्ट्रेलिया के शॉर्ट ने लगातार कई बार पैर उठाकर उसकी तरह गैस पास की थी, जिसे उन्होंने 'अपमानजनक और घृणित' महसूस किया. कंस्ट्रक्टर ने दावा किया कि उसके मालिक ने अक्सर ऐसा किया और उसे जानबूझकर यह बदमाशी की.
हालांकि, इस मामले में शॉर्ट ने अपने सहयोगी के लिए जानबूझकर गैस पास करने की बात से इनकार करते हुए स्वीकार किया कि वह इससे 'शर्मिंदा' था और ऐसा गलती से उसने एक या दो बार किया था. पूर्व सहयोगी, फिलिप हैमिल्टन ने बताया कि हिंगस्ट की उपस्थिति में शॉर्ट ने लगातार ऐसा किया था. मगर, इस अनजाने अपराध के लिए उन्होंने सांस्कृतिक अंतर को जिम्मेदार ठहराया, क्योंकि शॉर्ट जर्मन मूल के थे.

ट्रेन रुकने के बाद यहां होता है कुछ ऐसा

आखिर क्यों होता है McDonald’s में c सबसे छोटा

खेल-खेल में दिमाग में जा घुसा चॉपस्टिक