यहाँ जानिए मकर संक्रांति के मुहूर्त से लेकर मकर संक्रांति के पुण्य काल तक सबकुछ

Jan 09 2020 10:00 PM
यहाँ जानिए मकर संक्रांति के मुहूर्त से लेकर मकर संक्रांति के पुण्य काल तक सबकुछ

नए साल यानी साल 2020 में मकर संक्रांति 15 जनवरी दिन बुधवार के दीं है. वहीं हिन्दू पंचांग के अनुसार इस दिन माघ मास के कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि है और माघ मास में स्नान और दान का बहुत ही महत्व बताया गया है. जी दरअसल इस महीने में शीतल जल में स्नान मात्र से ही भगवान श्रीहरि विष्णु प्रसन्न हो जाते हैं, इस कारण से मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान का विधान माना गया है. कहा जाता है ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मकर संक्रांति के समय से देवताओं का दिन प्रारंभ हो जाता है. आइए जानते हैं क्या है मकर संक्रांति, मकर संक्रांति मुहूर्त, मकर संक्रांति पुण्य काल.

मकर संक्रांति क्या है - कहा जाता है सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है तो उस पर्व को मकर संक्रांति कहा जाता है और मकर संक्रांति से ही सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं.
मकर संक्रांति मुहूर्त - सोमवार 15 जनवरी दिन बुधवार को सुबह 2 बजकर आठ मिनट पर पर्व शुरू हो जाएगा.
मकर संक्रांति पुण्य काल - सुबह 7 बजकर 15 मिनट से प्रारंभ होकर शाम 5 बजकर 46 मिनट तक होगा.
मकर संक्रांति महा पुण्य - सुबह 7 बजकर 15 मिनट से सुबह 9 बजे तक होगा.
कब मनाएं मकर संक्रांति - मकर संक्रांति के प्रारंभ समय से लेकर 20 घटी (8 घण्टा) पूर्व और 20 घटी (8 घण्टा) बाद तक पुण्य काल होगा.
मकर संक्रांति को दान का लाभ - कहते हैं इस दीं किया गया दान का पुण्य सौ गुना प्राप्त होता है.
मकर संक्रांति पर खरमास समापन - मकर संक्रांति के दिन से ही खरमास का समापन हो जाता है और 16 दिसंबर 2019 से शुरू हुए खरमास में कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किया जा सकता.

मकर संक्रांति के नाम के पीछे क्या है महत्त्व, इस दिन ही क्यों सूर्य की किरणें पहुचांती हैं लाभ

मकर संक्राति पर इस तरह बनाए तिल और गुड़ के लड्डू, उंगलियां चाटते रह जाएंगे घरवाले

ये हैं मकर संक्रांति के शुभ मुहूर्त, जानिए कब से शुरू होंगे शुभ काम