14 फरवरी को है माघ मास का अंतिम प्रदोष व्रत, जानिए शुभ मुहूर्त

हिंदू धर्म में सभी देवी-देवताओं का महत्व दिया जाता है। ऐसे में भगवान शिव (Lord shiv) की भक्त पूरी श्रद्धा भावना के साथ उपासना करते हैं। कहा जाता है शिव जी का पूजन करने वाले भक्तों को सब कुछ मिलता है। वैसे आज के समय में शिव भक्त अपने प्रभु को अलग अलग तरीकों से खुश करने की हमेशा कोशिश करते रहते हैं। आप सभी जानते होंगे सोमवार को शिव जी का दिन माना जाता है,हालाँकि हर माह पड़ने वाला प्रदोष व्रत (pradosh vrat) भी भगवान भोलेनाथ को ही समर्पित होता है।  आपको बता दें कि प्रदोष व्रत हर तरह के कष्ट को जीवन से दूर करता है, यही कारण है कि इस व्रत को विशेष रूप से भक्त करते हैं जी दरअसल इस साल भी माघ शुक्ल त्रयोदशी के दिन भगवान शिव को समर्पित प्रदोष व्रत (Kab hai pradosh vrat) रखा जाएगा है। तो आज हम आपको बताते हैं इसकी तिथि और शुभ मुहूर्त।

सोम प्रदोष व्रत की तिथि- हिंदू पंचांग के मुताबिक 2022 के माघ मास का अंतिम प्रदोष व्रत 14 फरवरी को होने वाला है और इस दिन सोमवार है। हालांकि त्रयोदशी तिथि की शुरुआत 13 फरवरी की शाम को 6 बजकर 42 मिनट से शुरू हो जाएगी। जबकि त्रयोदशी तिथि का समाप्ति 14 फरवरी की रात 8 बजकर 28 मिनट पर होने वाली है।

सोम प्रदोष व्रत शुभ मुहूर्त (Som Pradosh Vrat 2022 Shubh Muhurat)- ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक प्रदोष व्रत की पूजा हमेशा ही प्रदोष काल में करना ही फलदायी होता है। आप सभी को हम यह भी बता दें कि इस बार प्रदोष व्रत की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त 14 फरवरी की शाम 6 बजकर 10 मिनट से रात्रि 8 बजकर 28 मिनट तक होने वाला है। ऐसे में इस दिन प्रदोष काल के समय में खास रूप से भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है।

‘रहें न रहें हम महका करेंगे…’ सुरों के एक युग की विदाई, लता ताई को भाई ने दी मुखाग्नि

मासिक शिवरात्रि के दिन इस तरह से जरूर करें शिव चालीसा का पाठ, होंगे बड़े फायदे

मासिक शिवरात्रि के दिन शिव चालीसा के पाठ से कटेंगे सारे कष्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -