मध्य प्रदेश में फिर उठा सियासी तूफ़ान, अब सिंधिया को केंद्रीय मंत्री बनाने की मांग

भोपाल: लंबे समय से देश में सियासी घमासान ठन्डे बस्ते में चला गया था. केवल कोरोना संक्रमण पर मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस ही एकमात्र सियासत कर रही थी. अब मध्यप्रदेश में राजनितिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं. सीएम शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बने हुए एक महीना बीत चुका है. इसके साथ ही कुछ नए मंत्री भी सरकार का हिस्सा बने हैं. 

अब कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक उन्हें केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री पद देने की मांग कर रहे हैं. मध्यप्रदेश की सियासत में ऐतिहासिक उलटफेर के सूत्रधार ज्योतिरादित्य सिंधिया रहे. उन्होंने कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को पलटते हुए भाजपा की सरकार बनवा दी. अपने समर्थक विधायकों और मंत्रियों का इस्तीफा दिलवाकर सिंधिया ने कमलनाथ सरकार को अल्पमत में ला दिया. बाद में पूरे दलबल के साथ ज्योतिरादित्य ने भाजपा का हाथ थाम लिया. भाजपा ने सिंधिया से जो राज्यसभा में भेजने का वादा किया था जो उसने निभा भी दिया है.

लेकिन अब ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक चाहते हैं कि सिंधिया जल्दी से जल्दी मोदी सरकार में मंत्री बनाये जाएं क्योंकि भाजपा की तमाम मांगों को उन्होंने पूरा कर दिया और अब भाजपा की जिम्मेदारी है कि वो ज्योतिरादित्य सिंधिया कि इच्छाएं पूर्ण करे. मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करके इस बात की मांग भी रख दी है. हालाँकि, अभी तक इस मामले पर कोई फैसला नहीं आया है.

रूस के एक और मंत्री को हुआ कोरोना, प्रधानमंत्री भी हो चुके हैं संक्रमित

MP में अब सुबह 6 से रात के 12 बजे तक खुलेंगी दुकानें, सीएम शिवराज ने किया ऐलान

जमीन के भीतर सुरंग बनाकर छिपा दी पनडुब्बियां, आखिर क्या है चीन का इरादा ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -