महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में लवलीना ने हासिल की जीत

टोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन ने सोमवार को लाइट मिडलवेट वर्ग में पूर्व चैंपियन चेन निएन चिन को हराकर इस्तांबुल में चल रही IBA वुमन वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियनशिप के राउंड आफ 16 में स्थान बना लिया है। बीते वर्ष तोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने के उपरांत पहली बार प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट में भाग ले रही लवलीना (70 किग्रा) ने चीनी ताइपे की मुक्केबाज को खंडित फैसले में 3-2 से मात दी है। 

निएन चिन ने 2018 में विश्व चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में लवलीना को मात दे दी थी। लवलीना की निएन चेन के विरुद्ध यह दूसरी जीत है। तोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के दौरान लवलीना ने क्वार्टर फाइनल में निएन चेन को मात दी है।  इस प्रतियोगिता में 2018 और 2019 में दो कांस्य पदक जीतने वाली असम की 24 वर्ष की मुक्केबाज लवलीना अगले दौर में इंग्लैंड की तीन बार की राष्ट्रीय चैंपियन सिंडी एनगाम्बा से भिड़ने वाले है।

तोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन इस्तांबुल में सोमवार से शुरू हो रही IBA महिला वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियनशिप के 12वें सत्र के पहले दिन पूर्व चैम्पियन चेन निएन-चिन से भिड़ने वाली है। टूर्नामेंट में भारतीय मुक्केबाजों को मिश्रित ड्रॉ मिला है जिसमें बोरगोहेन (70 किग्रा) के मुकाबले से इंडियन अभियान शुरू होने वाला है। बोरगोहेन तोक्यो ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में निएन-चिन को हरा चुकी है लेकिन चीनी ताइपे की मुक्केबाज ने इस टूर्नामेंट के 2018 और 2016 सत्र में क्रमश: स्वर्ण और कांस्य पदक को भी अपने नाम कर चुके है।

2 बार की एशियाई चैम्पियन पूजा रानी (81 किग्रा), नंदिनी और निकहत जरीन (52 किग्रा) को भी अपने-अपने वर्ग में कड़ा ड्रॉ भी देखने के लिए मिला है। पूजा अंतिम 16 के दौर में दो बार की विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता हंगरी की तिमिया नेगी से भिड़ते हुए नज़र आने वाले है, जबकि नंदिनी (81 किग्रा से अधिक) को पहले दौर में जीत हासिल हुई, लेकिन क्वार्टर फाइनल में उनका सामना मोरक्को की कांस्य पदक विजेता खदीजा अल-मर्डी से होने वाला है। निकहत पहले दौर में मैक्सिको की हेरेरा अल्वारेज़ से भिड़ने वाले है।

खबरों से मिली जानकारी के अनुसार जैस्मिन (60 किग्रा) पहले दौर में 2 बार की युवा एशियाई चैंपियन थाईलैंड की पोर्नटिप बुपा से भिड़ने वाले है। अन्य भारतीयों में अंकुशिता (66 किग्रा) , नीतू (48 किग्रा), अनामिका (50 किग्रा), शिक्षा (54 किग्रा), मनीषा (57 किग्रा), परवीन (63 किग्रा) और स्वीटी (75 किग्रा) को अपेक्षाकृत आसान ड्रॉ खेला गया है।

स्टिमक का बादफा बयान, कहा- "एशियाई क्वालीफायर के लिए पूरी तरह से फिट हैं छेत्री..."

शापालोव ने इटालियन ओपन में हासिल की जीत

टेनिस प्लेयर Johanna Konta ने अपने फैंस को दी बड़ी खबर, ट्विटर पर लिखा- बिजी बेकिंग माई ओन लिटिल मफिन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -