मध्य प्रदेश के इन तीन शहरों को छोड़कर अन्य जिलों में खुलेंगे दफ्तर-उद्योग

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन की अवधी को बढ़ाया गया हैं. वहीं, सोमवार से मध्य प्रदेश में केंद्र सरकार की गाइडलाइन के हिसाब से जिलों में आर्थिक गतिविधियां शुरू होंगी. भोपाल, इंदौर और उज्जैन को छोड़कर अन्य जिलों में दफ्तर और उद्योग खुलेंगे. कृषि, निर्माण, सिंचाई, दवा, उपकरण, ग्रामीण रोजगार के लिए मनरेगा सहित अन्य काम शुरू हो जाएंगे. भोपाल स्थित मंत्रालय (वल्लभ भवन) नहीं खुलेगा. कोरोना के खिलाफ अभियान में जुटे योद्धाओं को 15 अगस्त को कर्मवीर सम्मान दिया जाएगा.

बता दें की इंदौर के जूनी थाने के प्रभारी देवेंद्र चंद्रवंशी को मरणोपरांत कर्मवीर पदक दिया जाएगा. परिवार को 50 लाख रुपये की सहायता राशि, सेवानिवृत्ति की आयु तक असाधारण पेंशन और पत्नी सुषमा को सब इंस्पेक्टर की नौकरी दी जाएगी. यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को प्रदेश के नाम संदेश में कही. मुख्यमंत्री ने कहा हैं कि कोरोना से लड़ाई के सकारात्मक परिणाम सामने आने लगे हैं. कोरोना पॉजिटिव मरीज की संख्या अब उतनी नहीं आ रही हैं. इंदौर और भोपाल में स्थिति नियंत्रित हैं. शिवपुरी कोरोनामुक्त हुआ है. ग्वालियर भी इस दिशा में बढ़ रहा है, लेकिन जंग अभी हमने जीती नहीं है, संघर्ष बाकी है. सरकार ने कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में रहकर सेवा करने वालों को प्रतिमाह दस हजार रुपये की सम्मान निधि देने का निर्णय लिया है.

इस बारें में मुख्यमंत्री ने आगे कहा हैं कि बीस अप्रैल से लॉकडाउन में कई तरह की आर्थिक गतिविधियां शुरू की जा रही हैं. कोरोना ने प्रदेश को आर्थिक रूप से तोड़कर रख दिया है. चुनौती तो है, लेकिन इसे अवसर में बदलकर ही चैन की सांस लूंगा. प्रदेश को नई राह पर चलाना है. आने वाले समय के लिए सभी वर्गों के लिए कई योजनाएं दिमाग में हैं. राज्य को आर्थिक मंदी से उबारने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.

जबलपुर से भागा इंदौर का कोरोना पॉजिटिव आरोपी नरसिंहपुर में पकड़ाया

ड्यूटी छोड़ शराबखोरी कर रहे पटवारियों की तस्वीर वायरल, हुए सस्पेंड

अब मेडिकल कॉलेज में भी होंगे सर्दी खासी वाले मरीजों के कोरोना टेस्ट

फैंस को याद आ रही है सिद्धार्थ-रश्मि की केमिस्ट्री

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -