सिंघु बॉर्डर से हटे लंगर, घर लौट रहे किसान.., क्या ख़त्म हो गया आंदोलन ?

नई दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि MSP गारंटी कानून, बिजली कानून सहित कई मामलों पर जब तक केंद्र सरकार राजी नहीं होती है, तब तक आंदोलन वापस नहीं होगा। उनकी इस राय को लेकर किसान संगठनों में ही मतभेद नज़र आने लगे हैं। एक ओर पंजाब के कई किसान संगठनों ने घर वापसी करने की बात कही है तो वहीं बुधवार को होने वाली 40 संगठनों की बैठक भी निरस्त हो गई है। 4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) की बैठक होने वाली है, जिसमें आगे की रणनीति को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा। किन्तु इस बीच बड़ी तादाद में सिंघु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से किसान जाते हुए नज़र आ रहे हैं। किसानों की तादाद दोनों मोर्चों पर कम हो रही है।

इतना ही नहीं सिंघु बॉर्डर पर पिछले एक साल से जारी लंगर भी अब बंद हो गया है। यह लंगर गुरुद्वारा साहिब रिवरसाइड कैलिफोर्निया, अमेरिका की तरफ से आयोजित किया जा रहा था। इस लंगर के आयोजकों ने अपना सामान बांध लिया है और पंजाब वापस लौट गए हैं। 5 ट्रकों में अपना सामान भरकर ये लोग वापस लौट गए हैं। इस लंगर की संचालन समिति से संबंधित हरप्रीत सिंह ने कहा कि यह लंगर 1 दिसंबर 2020 से ही शुरू हो गया था, जब आंदोलनकारियों को सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे 5 दिन ही हुए थे। अब हमने पंजाब वापस लौटने का निर्णय लिया है। किन्तु अगर आंदोलनकारी किसान वापस आते हैं और लंगर सेवा की आवश्यकता पड़ती है, तो हम फिर से वापस आएंगे।

उन्होंने कहा कि सिंघु बॉर्डर पर लंगर के लिए हमने 27 कर्मचारियों को हायर किया था। इसके अलावा बड़ी तादाद में वॉलंटियर्स भी इस कार्य में जुटे हुए थे। अब जब किसानों ने जीत दर्ज कर ली है, तो हमने अब उन जगहों पर जाने का निर्णय लिया है, जहां लोगों को लंगर सेवा की आवश्यकता है। इसके अलावा एक और लंगर अब बंद हो चुका है और आयोजक पंजाब निकलने की तैयारी में हैं। हालांकि अब भी ऐसी कई लंगर समितियां हैं, जो आंदोलन जारी रहने तक दिल्ली की सरहदों पर डटे रहने की बात कर रही हैं। लंगर कमेटियों के पंजाब लौटने से इस बात का संकेत मिलता है कि दिल्ली की सरहदों पर आंदोलनकारियों की तादाद में कमी आ गई है और लोग धीरे-धीरे वापस लौट रहे हैं।

बदली इंडियन आर्मी की कॉम्बेट यूनीफॉर्म, जानिए क्या होंगे परिवर्तन?

फैंस दिल थाम कर बैठें, क्यूंकि जल्द ही निक जोनस के साथ नोरा फतेही आएंगी नज़र

ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया का पहला mRNA कोविड टीका विकसित किया

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -