लद्दाख के आदिवासियों को दुनिया के बाजार से जोड़ जाएगा