कुलभूषण जाधव केस: भारत की मांग- बिना रोकटोक दिया जाए कॉन्सुलर एक्सेस

नई दिल्ली: पाकिस्तान की जेल में कैद कुलभूषण जाधव के मामले में भारत ने पाकिस्तान से बगैर किसी रोकटोक के कॉन्सुलर एक्सेस दिए जाने की मांग की है. इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में रिव्यू पीटिशन दाखिल करने से पहले भारत की तरफ से पाकिस्तान के समक्ष यह मांग रखी गई है. ICJ के मुताबिक, कॉन्सुलर एक्सेस और स्वतंत्र-निष्पक्ष ट्रायल होना चाहिए.

भारत ने पाकिस्तान से कहा कि आप कॉन्सुलर एक्सेस के दौरान बातचीत की भाषा को केवल अंग्रेजी तक सीमित नहीं कर सकते हैं. भारत चाहता है कि पाकिस्तान दो अधिकारियों को कुलभूषण जाधव से मुलाकात करने की इजाजत दे. इससे पहले भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि कुलभूषण जाधव की जान बचाने को लेकर हम सभी कानूनी विकल्पों का उपयोग करेंगे. दरअसल, पिछले दिनों पाकिस्तान ने दावा किया था कि जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से मना कर दिया है. इस पर भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि जाधव पर पाकिस्तान का दावा दूरगामी है. भारत जाधव को बचाने के लिए तमाम कानूनी विकल्प खोज रहा है.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि पाकिस्तान का नया दावा विगत चार वर्षों से चल रहे फरेब का एक हिस्सा है. जाधव को मजाकिया ट्रायल के माध्यम से फांसी की सजा सुनाई गई. वह पाकिस्तान सेना के कब्जे में हैं. रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से इनकार करने के लिए उन्हें स्पष्ट रूप से बाध्य किया गया है.

बाजार में रौनक, 36000 के पार पहुंचा सेंसेक्स, बैंक निफ़्टी में गिरावट

कोरोना काल में बर्बाद हो रही थी कई कंपनियां, आईटी कंपनी इन्फोसिस ने 12.4 का मुनाफा किया अर्जित

कांग्रेस से निलंबित होने के बाद बोले संजय झा, कहा-मेरी निष्ठा पार्टी के ​प्रति है, न की व्यक्ति विशेष या परिवार के प्रति

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -