जानिए कैसे हुई थी सिक्किम की स्थापना

सिक्किम 16 मई, 1975 को भारत संघ में शामिल किया गया था। तब से, हर वर्ष 16 मई को सिक्किम राज्य का स्थापना दिवस (Sikkim Statehood Day) सेलिब्रेट किया जाता है। सिक्किम 100% जैविक बनने वाला देश का प्रथम राज्य है। आज सिक्किम में सभी कृषि गतिविधियाँ कीटनाशकों और सिंथेटिक उर्वरकों के इस्तेमाल के बिना की जाती हैं। बता दें कि कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान (Kanchenjunga National Park) एक विश्व धरोहर स्थल है जो सिक्किम में बसा हुआ है। इतना ही नही तीस्ता नदी इस राज्य में बहने वाली प्रमुख नदी कही जाती है। तीस्ता की सहायक नदियाँ ल्होनक (Lhonak), लाचुंग (Lachung) और तालुंग (Talung) हैं। तीस्ता नदी ब्रह्मपुत्र की सहायक नदी भी कही जाती है।

राज्य का दर्जा: 1975 में सिक्किम के पीएम ने इंडिया से सिक्किम को भारत संघ में शामिल करने की मांग की। जिसके उपरांत, भारतीय सेना ने गंगटोक शहर को अपने नियंत्रण में लिया और चोग्याल महल के रक्षकों को निशस्त्र भी कर दिया था। एक जनमत संग्रह हुआ जिसमें 97.5% ने राजशाही को समाप्त करके भारत में शामिल होने का समर्थन करना शुरू किया। भारतीय संसद ने अपने 35वें संशोधन में शर्तें रखीं, जिसने सिक्किम को एक “सहयोगी राज्य” (Associate State) बनाया गया। सिक्किम इस स्थिति को पाने वाला एकमात्र राज्य है। 36वें संशोधन ने 35वें संशोधन को निरस्त कर दिया और सिक्किम एक पूर्ण राज्य बना दिया गया।

सिक्किम की जातीयता: सिक्किम के निवासी नेपाली मूल के कहे जाते है। सिक्किम के मूल निवासी भूटिया (Bhutia) हैं। वे 14वीं शताब्दी में तिब्बत से स्थानांतरित हो गए थे। भूटिया से पहले लेप्चा रहते थे। तिब्बती अधिकतर राज्य के उत्तरी और पूर्वी हिस्सों में रहते थे।

जब हिना खान को कपड़े देने को तैयार नहीं थे डिजाइनर, एक्ट्रेस ने खुद बताई थी चौंकाने वाली वजह

'कांस फिल्म फेस्टिवल' में धूम मचाएगी हिना खान, रेड कारपेट पर एक बार फिर चलेगा कोमोलिका का जादू

चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों की मौत पर एक्शन में आया शासन, जारी किए दिशा-निर्देश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -