भीषड़ दुर्घटना के बाद दो भाग में बटी किआ सेल्टोस की कार

भीषड़ दुर्घटना के बाद दो भाग में बटी किआ सेल्टोस की कार

सोमवार रात को एक कार में दो भिड़ंत होने से भीषण हादसा हुआ है। सड़क हादसों पर यकीन करना हमेशा से ही भयानक रहा है और अब ऐसी ही एक कार दुर्घटना ने इंटरनेट को पूरी तरह से झकझोर कर रख दिया है। कार की पहचान किआ सेल्टोस के रूप में हुई है जो छिंदवाड़ा-नागपुर हाईवे पर एक बड़े हादसे के बाद दो हिस्सों में बंट गई थी।

सोशल मीडिया पर हादसे की तस्वीरें सामने आ रही हैं क्योंकि लोग कार की बिल्ट क्वालिटी को लेकर चर्चा कर रहे हैं। भीषण दुर्घटना में कार के दो हिस्से हो गए। लोग अब बी पिलर से लेकर ड्राइवर के सी-पिलर तक बिल्ट क्वालिटी से डरते हैं। रिपोर्ट से पता चलता है कि एसयूवी उस स्थिति में नहीं होती अगर इसे उन श्रमिकों द्वारा नहीं बचाया जाता, जिन्होंने यात्रियों को बाहर निकालने के लिए कटर का इस्तेमाल किया होगा। सौंसर पुलिस इंस्पेक्टर आरआर दुबे ने मीडिया को बताया 'किआ सेल्टोस टू-लेन एनएच-547 पर बहुत तेज गति से यात्रा कर रहा था जब दुर्घटना हुई।' दुर्घटना से बचे एक व्यक्ति ने पुलिस को सूचित किया कि एक बाइकर अचानक मुख्य सड़क में घुस गया और आखिरकार कार पुल की दीवार से टकरा गई और जिससे किआ सेल्टोस के दो टुकड़े हो गए। हालांकि, पुलिस ने खुलासा किया कि बचावकर्मी कार को टुकड़ों में काटने में कोई भूमिका नहीं निभाते हैं और दुर्घटना के प्रभाव ने इस परिदृश्य को जन्म दिया।

इसके अलावा, ईंधन टैंक सीट के नीचे है इसलिए यह सवाल ही नहीं है कि कोई भी बचावकर्मी कार को काट सकता है। इससे पहले 2019 में, किआ ने भारत में किआ मोटर इंडिया के रूप में अपनी शुरुआत की और उस समय सेल्टोस इसका पहला उत्पाद था। किआ के लिए सेल्टोस एक सफल कार बन गई और कंपनी कार्निवल एमपीवी के साथ आई। यह देश में सबसे अधिक बिकने वाला कार ब्रांड और 2,50,000 बिक्री के आंकड़े हासिल करने वाला सबसे तेज कार निर्माता था।

लोनी घटना को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ टैग करने में नाकाम रहा Twitter, योगी सरकार ने दर्ज करवाई FIR

नौगाम में सुरक्षाबलों पर आतंकियों ने किया हमला, एक दहशतगर्द ढेर

एनआईए ने दिल्ली के इस्राइली दूतावास में हुए विस्फोट के संदिग्धों की सूचना पर 10 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की