केरल में भारी बारिश से हाहाकार, 6 की मौत तो दर्जनभर लापता

तिरुवनंतपुरम: केरल में भारी बारिश होने के चलते जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। यहाँ मौसम विभाग ने छह जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है, वहीं 7 जिले ऐसे हैं जहाँ के लिए ऑरेंज और दो जिले ऐसे हैं जहाँ के लिए यलो अलर्ट जारी किया जा चुका है। इसी के साथ केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया है और लोगों को सुरक्षित रहने के लिए कहा है। अपने ट्वीट में वह लिखते हैं- 'मैं केरल के लोगों के साथ हूं। कृपया सुरक्षित रहें और सभी सुरक्षा सावधानियों का पालन करें।'

दूसरी तरफ इडुक्की जिलों के कोट्टायम और कोक्कयार में भूस्खलन (लैंडस्लाइड) और बाढ़ जैसी स्थिति के चलते छह लोगों की मौत हो गई है। इसी के साथ एक दर्जन लोग लापता हो गए हैं। मिली जानकारी के तहत केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने स्थिति का जायजा लेने के लिए शाम को एक आपात बैठक बुलाई। वहीं राज्य के अधिकारियों ने राज्य के पहाड़ी इलाकों में रात के समय आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसी के साथ भारतीय मौसम विभाग ने भी कड़ी चेतवानी देते हुए केरल के छह जिलों पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर आदि में अत्यधिक भारी बारिश का अनुमान जताया है। आपको बता दें कि यहाँ कई जिलों में बांध अपनी पूरी क्षमता के करीब हैं और पहाड़ी इलाकों में छोटे शहर और गांव बाहरी दुनिया से पूरी तरह से कट गए हैं।

वहीं दूसरी तरफ भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की और त्रिशूर जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया। तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलाप्पुझा, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाड जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसी के साथ एक बयान में यह भी कहा गया है कि "केरल तट से दूर दक्षिणपूर्व अरब सागर पर निम्न दबाव के चलते केरल में 17 अक्टूबर की सुबह तक अलग-अलग भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। इसके बाद 19 अक्टूबर की सुबह से बारिश में कमी आने के आसार हैं।''

केरल में भारी बारिश के कारण 14 जिलों में जारी किया गया अलर्ट

खुशखबरी: प्रेग्नेंट हैं साक्षी, अगले साल पापा बनेंगे MS धोनी!

बंगाल की खाड़ी में बन रहा कम दबाव का क्षेत्र, इन राज्यों में IMD ने जारी किया बारिश का अलर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -