करवा चौथ का व्रत टूटने पर अपनाएं ये महाउपाय, दोष से मिलेगा छुटकारा

आज कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी करवा चौथ का व्रत आज सुहागिनें का सबसे अहम त्यौहार है। आज सुहागिनें पति के अच्छे स्वास्थ्य, सौभाग्य, लंबी आयु एवं जन्म-जन्मांतर तक पुनः पति रूप में प्राप्त करने के लिए मंगल कामना करती हुई उपवास रखती हैं। दरअसल, हिन्दू धर्म में तमाम कामनाओं एवं देवी-देवताओं के लिए रखे जाने वाले उपवास की अपनी धार्मिक एवं आध्यात्मिक अहमियत है। मान्यता है कि व्रत को नियमर्पूक करने से शख्स को जिंदगी में कई लौकिक एवं पारलौकिक लाभ व अनुभव प्राप्त होते हैं। व्रत करने से देवी-देवता खुश होकर साधक को सुख-संपत्ति, सौभाग्य के साथ मनाचाहा वरदान देते हैं।

पति-पत्नी के मध्य प्रेम एवं भरोसे की डोर को मजबूती प्रदान करने वाले व्रत में अगर भूलवश आपका यह व्रत खंडित हो जाए तो आप बिल्कुल भी घबराएं नहीं तथा न ही दुखी हों, क्योंकि आपका व्रत अनजाने में खंडित हुआ है। क्योकि व्रत खंडित होना एक तरह का दोष है, इसलिए आपको इससे बचने के लिए कुछ उपाय जरूर करने चाहिए। आइए जानते हैं कि जब जाने-अनजाने आपका यह उपवास किसी कारणवश खंडित हो जाए तो किन उपायों को करने पर दोष अथवा फिर कहें व्रत के टूटने पर लगने वाले पाप से छुटकारा प्राप्त होता है।

* जाने-अनजाने अगर आपका करवा चौथ व्रत बीच में टूट जाए तो सबसे पहले आप इस बात को लेकर चिंतित या हताश न हों। व्रत के टूट जाने के पश्चात् सबसे पहले स्नान करें और उसके पश्चात् पवित्र मन से मां गौरी से इस भूल के लिए क्षमा प्रार्थना करते हुए पश्चाताप करें।
* करवा चौथ का व्रत अगर भूल से खंडित हो जाए तो इस दोष से बचने के लिए किसी महिला को अपने सामर्थय के मुताबिक श्रृंगार की वस्तुएं, वस्त्र एवं फल आदि दान करना चाहिए।
* व्रत टूट जाने के पश्चात् भी अपने व्रत को मां गौरी से माफी मांग कर करते रहें तथा शाम के वक़्त महादेव-पार्वती, स्वामी कर्तिकेय, गणपति एवं चंद्रदेव का विधि-विधान से पूजन करें तथा व्रत एवं पूजा के समय जाने-अनजाने हुई त्रुटियों के लिए एक बार फिर से माफी मांग लें तथा अपने पति के सुख एवं सौभाग्य की कामना करें। सच्चे मन से प्रार्थना करने पर माता पार्वती आपके सभी अपराधों को दूर करके आपको अखंड सौभाग्य का वरदान प्रदान करेंगी।
* चंद्रोदय के पश्चात् जब आप चंद्रदेव की पूजा करने जाएं तो उनके दर्शन के प्रार्थना करें कि हे मंत्रों एवं औषधियों के स्वामी चंद्रमदेव मेरे द्वारा पूर्व तथा इस जन्म में जाने-अनजाने में किए गए पापों को क्षमा करें एवं मेरे परिवार को स्वस्थ, सुखी एवं समृद्धि बनाए रखें।

करवा चौथ पर प्यास कंट्रोल करने के लिए अपनाएं ये 8 बेहतरीन टिप्स

करवाचौथ 2021: यहां जानिए तमाम शहरों में चंद्रोदय का समय!

कार्तिक मास में इस प्रकार करें तुलसी पूजा, बने रहेगी माँ लक्ष्मी की कृपा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -