जस्टिस चेलमेश्वर ने किया फेयरवेल का आमंत्रण अस्वीकार

दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट के जजों में शामिल चेलमेश्वर ने फेयरवेल फंक्शन के आमंत्रण को ठुकरा दिया है. जस्टिस जे. चेलमेश्वर के सुप्रीम कोर्ट बार असोसिएशन द्वारा दिए जाने वाले विदाई समारोह में जाने से मना कर देने के बाद तरह तरह की बाटे भी की जा यही है और लोग अपने अपने तर्क के आधार पर अटकले लगा रहे है. वही जस्टिस चेलमेश्वर ने इस आमंत्रण को अस्वीकार करने के पीछे निजी कारणों का होना बतलाया.

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के कामकाज के प्रति असंतोष प्रकट कर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सवाल खड़े करने वाले 4 वरिष्ठ जजों में से एक जस्टिस जे. चेलमेश्वर इस साल 22 जून को रिटायर हो रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट बार असोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने बताया कि बार बॉडी ने जस्टिस चेलमेश्वर से बीते सप्ताह मिलकर 18 मई को होनेवाले फेयरवेल के लिए उन्हें आमंत्रित किया था लेकिन उन्होंने इस आमंत्रण को ठुकरा दिया. 18 मई को सुप्रीम कोर्ट में गर्मी की छुट्टियां होने से पहले उनका अंतिम कार्य दिवस है.

इसके साथ ही विकास सिंह ने कहा कि बार असोसिएशन के सदस्यों ने एक बार फिर जस्टिस चेलमेश्वर से मिलकर उन्हें फेयरवेल फंक्शन में शामिल होने के लिए राजी करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने निजी कारणों के चलते इस कार्यक्रम में शामिल न हो पाने की बात कही. सुप्रीम कोर्ट के सबसे सीनियर जजों में से एक चेलमेश्वर जिनका मानना है कि, 'लोकतंत्र तभी जीवित रह सकता है, जब न्यायपालिका निष्पक्ष व स्वतंत्र होगी.' ने बार के सदस्यों को यह भी कहा है कि आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट से दूसरे हाई कोर्ट जाने के वक्त भी उन्होंने फेयरवेल का आमंत्रण स्वीकार नहीं किया था.

SC में भी ख़ारिज हुआ कांग्रेस का महाभियोग प्रस्ताव

अपने खिलाफ कोई खुद जज नहीं हो सकता- जस्टिस चेलामेश्वर

CJI के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई करेगी सुप्रीम कोर्ट

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -