जज ने किया शहाबुद्दीन मामले में सुनवाई करने से इंकार

नई दिल्ली : सीवान जेल में बंद बिहार के बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को बिहार के बाहर किसी और जेल मे शिफ्ट करने को लेकर आज सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई होनी थी लेकिन मामले से जुड़े न्यायाधीश ने खुद को सुनवाई से अलग कर लिया। उनका मत था कि वे शहाबुद्दीन के वकील रह चुके हैं ऐसे में वे सुनवाई से खुद को अलग कर रहे हैं।

ऐसे में सुनवाई दूसरी बेंच को शिफ्ट कर दी गई है, जिसमें यूयू ललित न्यायाधीश नहीं होंगे। अब इस मामले की सुनवाई करीब 4 सप्ताह बाद किया जाना तय किया गया है। गौरतलब है कि बिहार उच्च न्यायालय ने शहाबुद्दीन को जमानत दे दी थी, जिसके खिलाफ चंदा बाबू और बिहार सरकार ने याचिका दायर की थी। मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने सुनवाई करते हुए शहाबुद्दीन की जमानत को रद्द कर दिया था।

ऐसे में शहाबुद्दीन को वापस जेल जाना पड़ा था लेकिन मांग की जा रही थी कि शहाबुद्दीन को बिहार से कहीं और शिफ्ट कर दिया जाए। इस मामले में अब बात सामने आई है कि न्यायाधीश उदय उमेश ललित ने सुनवाई से इन्कार कर दिया है। दरअसल उदय उमेश ललित को इस मामले में सुनवाई से रोका गया है। वे शहाबुद्दीन के वकील भी रह चुके है। सीवान जेल में बंद मोहम्मद शहाबुद्दीन तेजाब हत्याकांड मामले में बंद हैं और मांग की जा रही है कि उन्हें बिहार से बाहर दूसरी जेल में शिफ्ट कर दिया जाए।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -