क्या बंद हो जाएगी WhatsApp Web सर्विस? जानिए पूरा सच

व्हाट्सएप्प ने अपने उपयोगकर्ताओं के लिए मल्टी-डिवाइस सपोर्ट फीचर को रोलआउट कर दिया है तथा शीघ्र ही इसे सभी उपयोगकर्ताओं के लिए लॉन्च किया जा सकता है। इस फीचर की यूजर्स बेसब्री से प्रतीक्षा कर रहे हैं मगर कई उपयोगकर्ता इस चीज को लेकर भी चिंता में हैं कि मल्टी डिवाइस सपोर्ट के आने के पश्चात् WhatsApp Web का क्या होगा? क्या कंपनी इस सर्विस को बंद कर देगी। व्हाट्सएप्प के एक प्रवक्ता ने चर्चा करते हुए इन प्रश्नों का उत्तर दिया है।

वही WhatsApp Web की बात करें तो इसमें उपयोगकर्ताओं को WhatsApp Web या विंडोज एवं MacOS ऐप तक पहुंचने के लिए QR कोड को स्कैन करना पड़ता है। तत्पश्चात, जिस मोबाइल में ऐप इंस्टॉल है उसे हमेशा इंटरनेट से कनेक्ट होना चाहिए। इंटरनेट होने पर ही डेस्कटॉप अथवा कम्प्यूटर पर नए एसएमएस को प्राप्त किया जा सकता है। यदि मेन डिवाइस में इंटरनेट नहीं है तो डेस्कटॉप पर सन्देश नहीं प्राप्त होगा। मगर व्हाट्सएप्प के नए मल्टी-डिवाइस फीचर में यह बदल गया है। यह फीचर उपयोगकर्ताओं को मेन डिवाइस के इंटरनेट से कनेक्ट न होने के बाद भी अन्य डिवाइस में व्हाट्सएप्प का उपयोग करने की मंजूरी देता है।

वही व्हाट्सएप्प के मल्टी डिवाइस फीचर में प्राइमरी डिवाइस के साथ अधिकतम चार डिवाइस को कनेक्ट किया जा सकता है। ऐसे में प्रश्न यह है कि सभी उपयोगकर्ताओं के लिए यह फीचर रोलआउट होने के पश्चात् व्हाट्सएप्प वेब का क्या होगा। इस प्रश्न का उत्तर देते हुए व्हाट्सएप्प के प्रवक्ता ने बताया कि WhatsApp Web हमारे उपयोगकर्ताओं के लिए एक महत्वपूर्ण प्लेटफॉर्म बना हुआ है। अब तक, व्हाट्सएप्प एक वक़्त में सिर्फ एक डिवाइस पर उपलब्ध था। डेस्कटॉप और वेब पोर्टल आपके मोबाइल को मिरर कर के काम करते थे, इसका अर्थ है कि आपके मोबाइल के चालू होने और इंटरनेट के सक्रीय होने के पश्चात् ही आप डेस्कटॉप पर व्हाट्सएप्प का उपयोग कर सकते हैं।

जन्मदिन पर कियारा आडवाणी को मिला बेहतरीन तोहफा, इस मशहूर साउथ सुपरस्टार के साथ आएंगी नजर

राष्ट्रपति ने एलीट विरोधी आईटीएन पार्टी से नई सरकार बनाने की कही बात

लूटी गई कलाकृतियों की बरामदगी के बाद फिर से खुलेगा इराक में राष्ट्रीय संग्रहालय

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -