आरोग्य संजीवनी पॉलिसी में बड़ा बदलाव, आम जनता को मिला जबरदस्त लाभ

आरोग्य संजीवनी पॉलिसी में बड़ा बदलाव, आम जनता को मिला जबरदस्त लाभ

भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने आम जनता के पक्ष में शानदार फैसला लिया है. जिसके तहत IRDAI ने सभी स्वास्थ्य एवं साधारण बीमा कंपनियों को न्यूनतम 50,000 रुपये से लेकर पांच लाख रु तक अधिकतम सम इंश्योर्ड की आरोग्य संजीवनी पॉलिसी लाने की इजाजत दे ​दी है. प्राधिकरण ने मंगलवार को एक सर्कुलर जारी कर इस चीज की अनुमति दी. वर्तमान में आरोग्य संजीवनी पॉलिसी न्यूनतम एक लाख रुपये के सम इंश्योर्ड के साथ आती है. आरोग्य संजीवनी पॉलिसी एक मानक इंश्योरेंस प्रोडक्ट है, जिसमें पॉलिसी होल्डर की बुनियादी जरूरतों का ख्याल रखा जाता है. 

सोने की चमक बरकरार, कीमत में आया जबदस्त उछाल, चांदी रह गई पीछे

पॉलिसीबाजार के हेल्थ इंश्योरेंस विभाग के प्रमुख अमित छाबड़ा ने इस फैसले का समर्थन किया है. समर्थन के अलावा इस फैसले को उन्होने शानदार करार दिया है. उन्होंने कहा कि जब आरोग्य संजीवनी स्कीम को लांच किया गया था तो सम इंश्योर्ड ग्राहकों के लिए चिंता का विषय था. चिकित्सा क्षेत्र से जु़ड़े खतरे को देखा जाए तो कम-से-कम 10 लाख रुपये के सम इंश्योर्ड वाली पॉलिसी लाए जाने की जरूरत है.

लगातार पांचवे दिन बढ़त के साथ बंद हुआ बाज़ार, सेंसेक्स 36600 के पार

अपने बयान में आगे छाबड़ा ने कहा कि, ''हालांकि, इंश्योरेंस कंपनियों के लिए कोई ऊपरी सीमा तय नहीं की गई है. इसलिए इंश्योरेस कंपनियां काफी हद तक नवाचार को अपना सकती हैं. इस कदम को काफी परिवर्तनकारी माना जा सकता है क्योंकि इससे देश में इंश्योरेंस सेक्टर की पहुंच को बढ़ाने में मदद मिल सकती है.'' वही, IRDAI ने कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में मानक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लाने की इजाजत कंपनियों को दी थी. उल्लेखनीय है कि किसी भी तरह की मेडिकल इमरजेंसी का असर आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ आपके पॉकेट पर भी पड़ता है.

तहस नहस होने वाली है भारत की अर्थव्यवस्था, गिरावट के अनुमान ने उड़ाए होश

कार के बदले आसानी से मिल सकता है मनचाहा लोन

7 ​रू निवेश कर पांच हजार महीना पा सकते है पेंशन