इराक और संयुक्त राज्य अमेरिका लड़ाकू इकाइयों को कम करने के लिए हुआ सहमत

इराकी जॉइंट ऑपरेशंस कमांड (JOC) ने घोषणा की कि घरेलू सेना और यूनाइट्स स्टेट की सेना इस महीने के अंत तक दो ठिकानों में लड़ाकू इकाइयों को कम करने पर सहमत हो गई है। गुरुवार को बगदाद में हुई बैठक के दौरान इराकी ज्वाइंट ऑपरेशंस कमांड के डिप्टी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल अब्दुल अमीर अल-शम्मरी की अध्यक्षता वाली एक इराकी कमेटी और यूएस के कमांडिंग जनरल मेजर जनरल जॉन ब्रेनन की अध्यक्षता वाली एक अमेरिकी कमेटी के बीच एक समझौता हुआ। 

रिपोर्टों के अनुसार दोनों पक्ष अनबर प्रांत में ऐन अल-असद और कुर्दिस्तान के अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र में एरबिल में सैन्य ठिकानों से लड़ाकू इकाइयों को कम करने पर सहमत हुए। दोनों पक्ष अमेरिकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना के लिए गैर-लड़ाकू भूमिका में संक्रमण को सुरक्षित करने के लिए शेष चरणों की चर्चा को पूरा करने के लिए नियमित सत्र आयोजित करने पर भी सहमत हुए। बगदाद और वाशिंगटन के बीच 2008 में हस्ताक्षरित रणनीतिक रूपरेखा समझौते के तहत इराक और अमेरिका के बीच रणनीतिक वार्ता सत्र 11 जून, 2020 को शुरू किए गए थे।

अमेरिकी इकाइयों की कमी इस महीने के अंत तक पूरी हो जाएगी, और शेष इकाइयां समर्थन, उपकरण और खुफिया जानकारी साझा करने के उद्देश्य से होंगी। विशेष रूप से, बैठक जुलाई में यूएस-इराकी रणनीतिक वार्ता के दौरान सहमत हुई थी, जब दोनों पक्ष 31 दिसंबर, 2021 तक इराक से सभी अमेरिकी लड़ाकू सैनिकों को वापस लेने पर सहमत हुए थे।

एक बार फिर भूकंप के झटको से हिला जम्मू-कश्मीर

करमा सिर्फ त्यौहार मात्र नहीं है, बल्कि यह कई संदेश भी हमें देता है: सीएम हेमंत सोरेन

इलाहाबाद और कलकत्‍ता समेत 8 हाईकोर्ट को मिले नए चीफ जस्टिस, 5 मुख्य न्यायाधीशों का हुआ तबादला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -