क्या है ईरान के इरादे? पहले चेतावनी, अब वफ़ा के वादे

Jul 12 2018 09:16 AM
क्या है ईरान के इरादे? पहले चेतावनी, अब वफ़ा के वादे

दिल्ली: ईरान ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा था कि यदि भारत की ओर से तेल का आयात कम किया जाता है तो फिर उसके विशेषाधिकार कम कर दिए जाएंगे. मगर अब अपने रुख में नरमी लाते हुए ईरान ने कहा है कि वह भारत को तेल की सप्लाइ सही ढंग से बनाए रखने के लिए पूरा प्रयास करेगा. ईरान ने कहा कि वह हमेशा से भारत का एक भरोसेमंद ऊर्जा प्रदायक रहा है. हाल ही में ईरान के उप-राजदूत मसूद रेजावानियन राहागी ने कहा था कि यदि भारत की ओर से तेल का आयात कम किया जाता है तो फिर उसके विशेषाधिकार कम कर दिए जाएंगे.

मगर अब ईरानी दूतावास की ओर से सफाई देते हुए कहा गया है कि ईरान यह समझता है कि ''भारत को अस्थिर ऊर्जा बाजार में डीलिंग करने में समस्याओं का सामना करना पड़ता है. यह भारत पर है कि वह ऊर्जा साझीदारों का चयन करे. भारत अपने भू-राजनीतिक हितों और तेल आपूर्तिकर्ता के विश्वसनीयता को ध्यान में रखते हुए फैसले ले सकता है.'' ईरानी दूतावास ने कहा कि ईरान की ओर से भारत की तेल आपूर्ति की सुरक्षा की जाएगी. ईरान ने कहा कि हम भारत को उचित दाम पर तेल मुहैया कराते हुए द्विपक्षीय व्यापार को आगे बढ़ाएंगे. 

इसी सप्ताह मंगलवार को एक सेमिनार में राहागी ने कहा था कि यदि भारत की ओर से ईरान से कच्चे तेल की खरीद में कमी की जाती है तो उसके विशेषाधिकार समाप्त कर दिए जाएंगे. उन्होंने भारत को चेतावनी के अंदाज में कहा था कि यदि वह इराक, सऊदी अरब, रूस और अमेरिका जैसे देशों से कच्चे तेल की खरीद के लिए डील करता है तो यह फैसला लिया जाएगा. मामला ईरान और अमरीका के बिगड़ते रिश्तों के कारण गर्म है. 

अब ईरान की भारत को चेतावनी

300 करोड़ के क्लब में शामिल होने को तैयार 'संजू'

करिश्मा तन्ना हुईं हादसे का शिकार

 

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App