धीरे धीरे इंटरनेट का अंत

धीरे धीरे इंटरनेट का अंत

पहले की बजाय अब इंटरनेट की स्पीड बहुत अच्छी हो गई है। इंटरनेट की स्पीड अच्छी होने से ऑप्टिकल फाइबर जो डाटा ट्रान्सफर करते है उन पर काफी प्रभाव पड़ा है। इंटरनेट अब कैपेसिटी क्रंच पर है और पूरी ज़िंदगी ये आपको अच्छा मतलब फास्ट डाटा उपलब्ध नही करा सकता है। एक्सपर्ट का कहना है कि कुछ समय के बाद अब फाइबर ऑप्टिक्स फंक्शन करना बंद कर देंगे। उनका कहना है कि इंटरनेट पहले 2 मेगाबाइट प्रति सेकंड की स्पीड से चलता था पर अब इंटरनेट 100 एमबी की स्पीड से चलता है, जिसकी वजह से फाइबर ऑप्टिक्स पर बुरा प्रभाव पड़ा है और यह अब ज्यादा डाटा लेने की स्थिति मे नही है।

ऑप्टिकल फाइबर का इस्तेमाल हम अपने कंप्यूटर और लेपटोप के डाटा को ट्रान्सफर करने के लिये करते है। ऑप्टिकल फाइबर जो डाटा ट्रान्सफर करते है ये सिर्फ अब आगे 8 सालो के लिये ही है। अगर आप 100 एमबी से ज्यादा डाटा ट्रान्सफर करते है तो आप ऑप्टिकल फाइबर का इस्तेमाल नही कर पाएंगे।

अभी एक ऐसे ऑप्टिकल फाइबर का पता किया गया है जो 255 टेराबाइट प्रति सेकंड के हिसाब से डाटा को ट्रान्सफर कर सकता है। अभी तक जो ऑप्टिकल फाइबर इस्तेमाल करते थे ये फाइबर पहले वाले से काफी अच्छा है यह 21% ज्यादा अच्छा है। इस ऑप्टिकल फाइबर के आने पर इंटरनेट मे जो परेशानी होती है वो अब कम हो जाएगी। लेकिन इतने बड़े पैमाने पर ऑप्टिकल फाइबर को बदलना थोड़ा मुश्किल होगा।

गूगल के चेयरमेन ने कहा है कि अब धीरे धीरे इन्टरनेट का अंत होने वाला है। आज की दुनिया मे टेक्नोलोजी की कोई कमी नही है टेक्नोलोजी इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि कुछ कह नही सकते है ऐसा हो भी सकता है कि सच मे इंटरनेट खत्म हो जाये। गूगल के चेयरमेन ने कहा है कि अब ऐसे उपकरण है जो इंटरनेट को खत्म कर देंगे और दुनिया को और भी अच्छा और दिलचस्प बना देंगे।