देश में पहला अंतरराष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला शुरु, यह है आयोजन का उद्देश्य

नई दिल्लीः देश में कृषि और सहकारिता को बढ़ावा देने के लिए सरकार संकल्पित है। जीडीपी में कम योगदान के बावजूद इस क्षेत्र में भारी संख्या में लोग रोजगार के लिए निर्भर हैं। केंद्र सरकार ने अगले पांच सालों में पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है। केंद्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र तोमर भारतीय अंतरराष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला-2019 का उद्घाटन करते हुए कहा कि सहकारी क्षेत्र के उत्पादों को वैश्विक बाजार में प्रतिस्पर्धी बनाने भर की आवश्यकता है। गति मैदान में आयोजित इस अंतरराष्ट्रीय मेला में स्टार्टअप युवा सहकार स्कीम और सहकार भारती के 'सिंपली देसी' के ब्रांड उत्पादों को भी कृषि मंत्री तोमर ने लांच किया।

तोमर ने कहा 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन की बनाने का लक्ष्य दिया है। हम उसे प्राप्त करने के लिए गांव, गरीब और किसान पर फोकस करना होगा।' इस लक्ष्य को प्राप्त करने में अत्यधिक संभावनाओं वाले सहकारी क्षेत्र की भूमिका अहम होगी। तोमर ने कहा कि सहकारिता संस्कृति भारत के लिए कोई नया विषय नहीं है। वैश्विक बाजार में प्रतिस्पर्धी बनाकर इसे आगे बढ़ाया जा सकता है। देश में सहकारिता क्षेत्र के ऐसी कंपनियां है, जिनका डंका देश नहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी बज रहा है। इस क्षेत्र की संभावनाओं के दोहन की सख्त जरूरत है। बता दें कि केंद्र सरकार ने किसानों के विकास के लिए इस कार्यकाल में कई योजनाओं की शुरूआत की है। 

जीएसटी संग्रह में कमी से चिंतित सरकार, उठाया यह कदम

मंदी के इस दौर में देश के इस दिग्गज टेक कंपनी का बढ़ा मुनाफा

वित्त मंत्री की आज सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक, इस मुद्दे पर होगी चर्चा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -